2030 तक भारत में रेबीज को खत्म करने लक्ष्य

विश्व में रेबीज रोकथाम मे लिए विश्व रेबीज दिवस के उपलक्ष्य में पशुपालन विभाग,  दिल्ली सरकार, भारतीय पशु चिकित्सा संघ एवं दिल्ली पशु चिकित्सा संघद्वारा दिनांक 28.09.2019 को पशु चिकित्सालय नंगली डेयरी में मेगा शिविर का आयोजन किया।

नई दिल्ली। ‘‘विश्व रेबीजदिवस‘‘ को चिन्हित करने के लिए, जो हर साल 28 सितम्बर को लुइस पाश्चर, फ्रांसीसी रसायनज्ञ और सूक्ष्म जीवविज्ञानी की स्मृति की सालगिरह पर आयोजित किया जाता रहा है, इस उपलक्ष्य में पशु पालन विभाग, दिल्ली सरकार, भारतीय पशु चिकित्सा संघ और दिल्ली पशु चिकित्सा संघएवं कैनिस वेलफेयर क्लब के सहयोग से पशु चिकित्सा अस्पताल नंगली डेरी, मुख्य नजफगढ़ रोड, दिल्ली – 43 पर 11वीं वार्षिक निःशुल्क एंटी रेबीज टीकाकरण शिविर का आयोजन किया गया।दिल्ली में रेबीज रोकथाम के लिए सुरक्षित और प्रभावी रेबीज टीकाकरण पालतू एवं आवारा श्वानों को लगाया गया जिससे कि मनुष्यों मे श्वानों के काटने द्धारा होने वाली घातक रेबीज बिमारी से बचाव हो सके। इसलिए इस मेगा कैंप में 220श्वानोंको मुफ्त एंटी रेबीज टीकाकरण किया गया एवं पशु मालिकों को घातक बिमारी के बारे में जागरूकता बढ़ाने लिए पर्चों का वितरण किया गया।

डाॅ विजय कुमार जी, कोषाध्यक्ष,(आई वी ए) ने 2030 तक भारत में रेबीज को खत्म करने के महत्व पर जोर दिया।दिल्ली को भारत की राजधानी होने के कारण 2030 तक रेबीज को खत्म करने के उद्ेश्य से नेतृत्व करना चाहीए। इस लक्ष्य के साथ 15 सितंबर से 15 अक्टूबर 2019 तक एंटी रेबीज टीकाकरण कर आवारा कुत्तों सहित लगभग 12000 श्वानों को टीकाकरण करने का लक्ष्य है।

इस अवसर पर डा सतीश डबास, अध्यक्ष, (डी वी ए), डा विजय कुमार, डा दिपांकर सेठ, जोनल सचिव, (आई वी ए), डा सुनिल चैधरी, कोषाध्यक्ष, (डी वी ए), डा आलोक अग्रवाल, उप निदेशक, (एसडीएमसी),  डा मोनाल (एसीसीडीसी) और डा राहुल पवार, डा एस रोडगे, डा एस रनौत, डाॅ साहुकार, डा दीपेश, डा एस जगताप, डा संजीत कुमार, डा विजय डागर, डा अभिषेक और अन्य पशु चिकित्सक द्धारा अनुग्रहित किया गया।कैम्प में विभिन्न दवा कंपनियों ने भी सक्रिय रूप से भाग लिया। पशुपालन विभाग,  दिल्ली सरकार, भारतीय पशु चिकित्सा संघ और दिल्ली पशु चिकित्सा संघ 2030 तक भारतीय श्वानों को रेबीज मुक्त बनाने के लिए संकल्पित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *