समाचार

रेहडी पटरी दुकानदारों का मांगे को लेकर नोएडा प्राधिकरण कार्यालय सैक्टर-6 पर ’प्रदर्शन

रेहडी पटरी दुकानदारों का मांगे पूरी होने तक नोएडा प्राधिकरण कार्यालय सैक्टर-6 पर ’’घेरा डालो डेरा डालो’’ धरना जारी

नोएडा (अजित कुमार) , सभी पथ विक्रेताओं को उनके मौजूदा स्थानों पर सर्वेक्षण कर लाइसेंस सहित सभी सामाजिक सुरक्षा के लिए जब तक कानून के तहत वेन्डर पाॅलिसी लागू नहीं होती तब तक अतिक्रमण के नाम पर हो रहे उत्पीडन व पथ विक्रेताओं को उजाड़ने की कार्यवाही को रोकने की मांग को लेकर पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत शहर के रेहड़ी पटरी, फुटपाथ के दुकानदार/व्यापारियों ने नोएडा रेहडी-पटरी गरीब रक्षा वाहिनी के वैनर तले जी0आई0पी0 माॅल सैक्टर-18, नोएडा पर इक्कठा होकर शहर के विभिन्न सैक्टरों मे जलूस निकालते हुए नोएडा प्राधिकरण कार्यालय सैक्टर-6, नोएडा पर पहुॅच कर जोरदार तरीके से धरना प्रदर्शन कर अपने हक अधिकारों की मांग किया। धरना की अध्यक्षता मौर्चा के अध्यक्ष गणेश यादव ने किया और संचालन सीटू जिलाध्यक्ष एवं मोर्चा के संरक्षक गंगेश्वर दत्त शर्मा ने किया धरने को दिल्ली रेहड़ी पटरी यूनियन सीटू के वरिष्ठ नेता एन0एस0 कुशवाहा, मोर्चा के महामंत्री अशोक नारायण शर्मा, कोषाध्यक्ष बटेश्वर मिश्रा, वरिष्ठ नेता रविन्द्र कुमार शाह, ब्रहमपाल सिंह, गणेश कुमार, सरोज कुमार गुप्ता, मिथलेश कुमार, रविन्द्र कुमार, भीखू प्रसाद, भरत डेन्जर, दिलिप पासवान, शाहबुदीन, दयांशकर पाण्डे, जनवादी महिला  समिति की नेता आशा यादव ने सम्बोधित किया वक्ताओं ने नोएडा प्राधिकरण एवं पुलिस प्रशासन की गरीब विरोधी नीति और उन्हें उजाड़ने, मार-पीट करने समान को नष्ट करने की कड़ी निन्दा किया और ऐलान किया कि जबतक नोएडा प्राधिकरण उनकी मांगों पर लिखित सहमति प्रदान नहीं करेगा उनका नोएडा प्राधिकरण पर घेरा डालो डेरा डालो आन्दोलन जारी रहेगा आन्दोलनकारियों की मुख्य मांग है किः –  केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा पथ विक्रेताओं के कल्याण के लिये बनाये गये कानून पथ विक्रेता अधिनियम 2014 एवं सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का पूरी तरह से पालन किया जाये और उसी के तहत सभी पंजीकृत एसोसिएशनों के प्रतिनिधियों को लेकर नगर पथ विक्रय समिति का गठन किया जाये और समिति के साथ सभी पथ विक्रेताओं का सर्वेक्षण कर लाइसेंस जारी किया जाये। जब तक नोएडा शहर में वेन्डिंग जोन की व्यवस्था लागू नहीं होती है तब तक किसी भी पथ विक्रेता को उजाड़ा/हटाया  न जाये तथा हाल ही में हटाये गये अट्टा बाजार एवं पूर्व में हटाये गये सैक्टर-62 पीर मजार बाजार सहित सभी बाजारों को पूर्व की भांति लगने दिया जाये।   जनहित या अन्य किन्ही कारणों से किसी बाजार या पथ विक्रेता को हटाना आवश्यक हो रहा है तो ऐसी स्थिति में बातचीत कर वैकल्पिक स्थान मुहैया कराना सुनिश्चित किया जाये।    अवैध वसूली बंद कराकर शहर में भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था कायम करते हुए सभी पथ विक्रेताओं एवं रिक्शा चालकों के हक/अधिकारों की हिफाजत सुनिश्चित की जाये तथा पान विक्रेताओं को उनके मौजूदा स्थानों पर ही चिन्हीकरण उनको लाइसेंस दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *