धर्मक्रम समाचार

1400 साल पहले ही इस्लाम ने शिक्षा को जरूरी करार दिया था: शकील अहमद

1400 साल पहले ही इस्लाम ने शिक्षा को जरूरी करार दिया था: शकील अहमद
नई दिल्ली : कांग्रेस महासचिव शकील अहमद ने रविवार को कहा कि इस्लाम ने शिक्षा को 1400 साल पहले ही जरूरी बना दिया था। लेकिन हमारे देश के मुसलमान शिक्षित नहीं हैं और यही वजह है कि उनकी स्थिति खराब है। उन्होंने कहा कि हालाकि अब कुछ बेहतर माहौल हुआ है।
उन्होंने कहा कि देश में मुसलमान अपनी बदतर स्थिति के लिए ख़ुद जिम्मेदार है क्योंकि उनमें शिक्षा की कमी है और यह कमी शुरू से ही रही है।
भाषा के मुताबिकअहमद यहां मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के मरहूम महासचिव मौलाना सैयद निजामुद्दीन के जीवन पर लिखी गई किताब के लोकर्पण के मौके पर बोल रहे थे। इस पुस्तक के लेखक आरिफ इकबाल हैं।
उन्होंने कहा कि इस्लाम ने शिक्षा को 1400 साल पहले ही जरूरी बना दिया था। इसलिए मुस्लिमों को शिक्षा जरूर लेनी चाहिए। शिक्षा से ही मुस्लिम हर मोर्चे पर अपना किरदार निभा सकते हैं। बहरहाल, पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा कि खुशी की बात यह है कि अब मुस्लिमों में शिक्षा के लिए जागरूकता आ गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *