मनोरंजन समाचार

​पत्रकारिता बहुत ही क्रियेटिव कार्य है : साबित सुबासिक

​ 

​पत्रकारिता बहुत ही क्रियेटिव कार्य है : साबित सुबासिक
नई दिल्ली (वेब न्यूज)।अंतराष्ट्रीय पत्रकारिता केंद्र के अंतर्गत छठे ग्लोबल पत्रकारिता समारोह का मारवाह स्टूडियो में भव्य रूप से उदघाट्न किया गया। समारोह का उदघाट्न करते हुए अध्यक्ष संदीप मारवाह ने कहा 12 फरवरी को अंतर्राष्ट्रीय पत्रकारिता दिवस के रूप में मनाया जाता है और हमारा यही उद्देश्य है कि हम इस समारोह के जरिए प्रेम, शांति व एकता पूरे विश्व में स्थापित करें। समारोह के उद्घाटन के अवसर पर बोस्निया के राजदूत साबित सुबासिक, घाना के राजदूत माइकल ओकाये, टीसाइड यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर डॉ. ज़िआजून ज़ू, जर्नलिस्ट वेद प्रकाश वैदिक, कुमार मोहन और हिमांशु झुनझुनवाला उपस्थित हुए।
​​साबित सुबासिक ने कहा पत्रकार का काम पूरे देश को सच्चाई से अवगत कराना होता है जो पत्रकार दिखाता है वही जनता समझती और जानती है इसलिए पत्रकार को हमेशा अपने काम के प्रति ईमानदार होना ज़रूरी है, मीडिया बहुत ही विशाल है और पत्रकारिता बहुत ही क्रियेटिव कार्य है। माइकल ओकाये ने कहा की पत्रकारिता लोगो की सोच में बदलाव लाने में बहुत बड़ा योगदान देता है, एक पत्रकार किसी भी न्यूज़ को जिस तरह लोगो के सामने प्रस्तुत करेगा लोग उसे वैसा ही समझेंगे। पत्रकारिता के माध्यम से हम दुनियाँ की हर अच्छी बुरी न्यूज़ को जान लेते है घर बैठे बैठे।
डॉ. ज़िआजून ज़ू ने कहा की मारवाह स्टूडियो में आते ही मुझे एक पॉजिटिविटी और स्टूडेंट का जोश देखने को मिला। दुनिया में कई तरह के समारोह आयोजित किए जाते हैं लेकिन पत्रकारिता के लिए इस तरह का समारोह सराहनीय है।
समारोह के अध्यक्ष संदीप मारवाह ने बताया कि यह समारोह 12 से 14 फरवरी तक चलेगा और तीन दिवसीय ग्लोबल पत्रकारिता समारोह के पहले दिन दीपक घोष की महापुरुषो को श्रद्धांजलि देती हुई प्रदर्शनी के साथ आरती मक्क्ड़ और प्रभु दयाल वर्मा की राजस्थान की पृष्ठभूमि को फोकस करती हुई पेटिंग प्रदर्शनी का आयोजन किया जिसमे क्ले द्वारा बनायी गयी खूबसूरत कलाकृति भी सजाई गयी और न्यूज़ बुलेटिन व पोस्टर रिलीज, जर्नलिज्म पर कार्यशालाओं का आयोजन किया गया। अंत में संदीप मारवाह ने आए हुए सभी अतिथियों को इंटरनेशनल जर्नलिज्म सेंटर की आजीवन सदस्यता प्रदान की। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *