शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

स्मार्ट सिटी के विकास में नागरिकों की भूमिका अत्यंत अहम् – जिलाधीश राहुल जैन

एमिटी यूनिवर्सिटी में  स्मार्ट मैटेरियल्स: एनर्जी एंड एनवायरनमेंट फॉर स्मार्ट सिटीज पर एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित।

ग्वालियर। एमिटी विश्वविद्यालय मध्य प्रदेश प्रदेश ग्वालियर में 28 फरवरी को स्मार्ट मैटेरियल्स एनर्जी एंड एनवायरनमेंट फॉर स्मार्ट सिटीज विषय पर एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी का शुभारंभ मुख्य अतिथि जिलाधीश ग्वालियर माननीय श्री राहुल जैन ,विशिष्ठ अतिथि डीआरडीओ हेड क्वार्टर नई दिल्ली के डायरेक्टर डॉ देवकांत सिंह ,एमिटी विश्वविद्यालय के कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा एवीएसएम (रिटायर्ड) और उपकुलपति प्रोफेसर डॉ एमपी कौशिक ने किया। इस अवसर पर कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा ने बताया कि स्मार्ट सिटी के लिए सेंसिटिव सिटीजन होना चाहिए। उन्होंने ग्रीन एनर्जी ,पर्यावरण सुरक्षा एवं जनसंख्या नियंत्रण को भविष्य निधि के रूप में निरुपित किया। इस संगोष्ठी का उद्देश्य सभी प्रतिभागी शोधार्थियों वैज्ञानिकों इंडस्ट्रीज के कर्मचारियों एवं शिक्षकों द्वारा एनर्जी एवं एनवायरनमेंट के उत्थान के लिए स्मार्ट मैटेरियल्स में किए जा रहे शोध का आदान प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी का मतलब ऐसे शहरों से है जहां पानी और बिजली की अच्छी व्यवस्था होगी साथ ही साफ-सफाई और कचरा प्रबंधनशहर में आने जाने के लिए परिवहन का बेहतरीन साधनतकनीकी कनेक्टिविटीई-गवर्नेंसनागरिकों की सुरक्षाशासन में नागरिकों की भागीदारी जैसी कई सुविधाएं मौजूद हों। वहीँ शहरी संसाधनोंस्रोतों और बुनियादी संरचनाओं का सक्षम ढंग से विकास करना और सभी नागरिकों को शासन से मिलने वाली सुविधाओं में अपनी हिस्सेदारी सुनिश्चित करना शामिल है । इस अवसर पर मुख्य अतिथि जिलाधीश ग्वालियर माननीय श्री राहुल जैन ने अपने अभिभाषण में कहा कि स्मार्ट सिटी का मकसद नागरिकों की आवश्यकताओं को केंद्र में रखकर स्मार्ट सिटी विकसित करना है इसमें नागरिकों की भूमिका अत्यंत अहम् है उन्होंने सेंसिबल सिटी कांसेप्ट पर विस्तृत चर्चा करते हुए स्पेशल परपस व्हीकल, एरिया बेस्ड डेवलपमेंट, मोबिलिटी मोडूल आदि पर विचार व्यक्त किए उन्होंने एमिटी संस्थान में स्मार्ट मैटेरियल्स एनर्जी एंड एनवायरनमेंट फॉर स्मार्ट सिटीज पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी पर अत्यंत प्रसन्नता व्यक्त करते हुआ कहा, उन्हें ख़ुशी है कि आज की युवा शक्ति अपने शहर को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित देखना चाहती है उन्होंने बताया कि स्पेशल परपस व्हीकल द्वारा 74 मोडूलस पर कार्य किया जा रहा है जिसका मकसद शहरी जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाना, स्वच्छ पर्यावरण उपलब्ध कराना, परिवहन व्यवस्था को बेहतरीन बनाना, झुग्गी में रहने वाले लोगों को वैकल्पिक सुविधा मुहैया कराना और शहरी संसाधनोंस्रोतों और बुनियादी संरचनाओं का सक्षम ढंग से विकास करना है। इसके लिए भौतिक,संस्थागतसामाजिक और आर्थिक बुनियादी ढांचे के व्यापक विकास की आवश्यकता है। ये सभी जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने एवं लोगों और निवेश को आकर्षित करनेसतत विकास एवं प्रगति के एक बेहतर चक्र की स्थापना करने में महत्वपूर्ण हैं। स्मार्ट सिटी का विकास इसी दिशा में एक कदम है। इस अवसर पर सभी आमंत्रित अतिथियो द्वार एक ई-स्मारिका का विमोचन किया गया।   

 वहीँ  कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि डीआरडीओ हेड क्वार्टर नई दिल्ली के डायरेक्टर डॉ. देवकांत सिंह ने स्मार्ट सिटी एवं स्मार्ट सिटीजन पर चर्चा करते हुए कहा कि नागरिकों को केन्द्रित करके ही विकास का समुचित मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा कि हम समाज की सहभागिता से ही स्मार्ट शहर विकसित कर सकेंगे। इसके लिए हमें वैचारिक विकास के लिए सरकार, समाज एवं वैयक्तिक स्तर पर समेकित प्रयासों की आवश्यकता है

इस दौरान डीआरडीओ नई दिल्ली के साइंटिस्ट डॉ पीके राय ने नैनो मटेरियलस एवं नैनोटेक्नोलॉजी की  क्रमागत उन्नति, क्रांति एवं भविष्य की संभावनाओं पर अपने विचार व्यक्त किए इस अवसर पर डीआईडीई ग्वालियर के साइंटिस्ट डॉ संजय उपाध्याय ने बायोसेंसर उपकरण बनाने में स्मार्ट मैटेरियल्स के उपयोग  पर चर्चा की। इस संगोष्ठी में देश के विभिन्न राज्यों से वक्ता और शोधार्थीयों ने शामिल होकर 100 से अधिक शोध पत्र पढे  और अपने विचार व्यक्त किए। संगोष्ठी के अंतिम सत्र में एमिटी विश्वविद्यालय के प्रो वाइस चांसलर माननीय प्रोफेसर डॉ. एमपी कौशिक ने समापन टिप्पणी में अपने विचार व्यक्त किए ।तदुपरांत बेस्ट ओरल प्रेजेंटेशन एवं पोस्टर प्रेजेंटेशन हेतु पुरुस्कार वितरण किया गया। इस अवसर पर संगोष्ठी समन्वयक डॉ पंकज मिश्रा ने संगोष्ठी का सार तथा डॉ दिव्या सिंह द्वारा आभार व्यक्त किया गया। इस अवसर पर  सम्मेलन के दौरान एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के रजिस्ट्रार राजेश जैनसहित सभी विभाग प्रमुख,फैकल्टी और विद्यार्थी मौजूद रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *