समाचार

सेना प्रमुख ने यूएन महासचिव को दिया भरोसा- ऐसे मामले नहीं करेंगे बर्दाश्त

नई दिल्ली। सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग ने जोर देकर कहा है कि भारतीय सेना शांति रक्षा अभियानों के दौरान यौन शोषण और उत्पीड़न को लेकर कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति के प्रति पूरी तरह कटिबद्ध है। उन्होंने यह बात संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून से यहां हुई मुलाकात के दौरान कही। बान ने इस दौरान भारत के शांति सैनिकों की कटिबद्धता और अनुशासन की सराहना की ।
सुहाग अमेरिका की चार दिन की यात्रा पर हैं। सोमवार को उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून तथा संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन से मुलाकात की। सेना प्रमुख और संयुक्त राष्ट्र महासिचव के बीच हुई मुलाकात के बारे में भारतीय मिशन द्वारा जारी किए गए संक्षिप्त बयान में कहा गया कि भारतीय सेना प्रमुख ने यौन उत्पीड़न एवं शोषण के प्रति महासचिव की कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति के प्रति भारतीय सेना की पूर्ण कटिबद्धता पर जोर दिया ।
बयान में कहा गया कि सुहाग ने महासिचव को वैश्विक शांति के प्रति प्रशिक्षण, अनुशासन और समर्पण के उच्चतम मानकों के साथ भारतीय सेना की अनवरत प्रतिबद्धता का आश्वासन दिया। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने संयुक्त राष्ट्र मिशनों में सेवारत भारतीय शांति सैनिकों की प्रतिबद्धता, अनुशासन और गुणवत्ता की सराहना की ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *