धर्मक्रम समाचार

सहारनपुर में 800 से ज्यादा दलितों ने अपनाया बौद्ध घर्म

सहारनपुर में 800 से ज्यादा दलितों ने अपनाया बौद्ध घर्म
मुजफ्फरनगर। सहारनपुर के शब्बीरपुर हुई जाति हिंसा से परेशान चरथावल के गांव न्यामू के सैकड़ों दलितों ने बुधवार को बौद्ध धर्म अपना लिया। कुछ दिन पहले इन्होंने धर्म परिवर्तन की चेतावनी दी थी। ग्राम प्रधान लियाकत अली ने धर्म परिवर्तन की पुष्टि की है जबकि पुलिस-प्रशासन को भनक नहीं लगी। चरथावल क्षेत्र के न्यामू गांव में दलितों की संख्या 800 से ज्यादा है।
आप को बताते चलें कि सहारनपुर के शब्बीरपुर में जातीय हिंसा को लेकर गांव के दलित समाज के लोग नाराज चल रहे थे। शामली के थानाभवन निवासी रोकी अंबेडकर के नेतृत्व में दलितों की गांव में बैठक कर धर्म परिवर्तन का फैसला लिया। इसके बाद गांव के रविदास मंदिर पर लार्ड बुद्धा सेवा समिति के बैनर तले कार्यक्रम में सैकड़ों दलितों ने धर्म-परिवर्तन कर बौद्ध धर्म ग्रहण कर लिया। दीक्षा लेने के बाद भीम नमो बुद्धाय के उद्घोष के साथ पदयात्रा निकाली।
रविदास मंदिर में धर्म परिवर्तन को लेकर पूजा पाठ किया गया और धम्म सागर के समक्ष बौद्ध दीक्षा ग्रहण की गई। कार्यक्रम में वयस्क लोगों के साथ बच्चे भी थे। सिर मुड़वाने के साथ लाल वस्त्र धारण कर सभी ने धम्म सागर से आशीर्वाद लिया। कुछ दिन पहले भी दलितों ने चरथावल थाना घेरकर भीम आर्मी प्रमुख रावण की रिहाई की मांग की थी। ऐसा नहीं करने पर धर्म परिवर्तन की चेतावनी दी थी। डीएम गौरीशंकर प्रियदर्शी ने बताया कि वह सहारनपुर में बैठक में थे। मामला संज्ञान में नहीं है। पूरे प्रकरण की जांच कराएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *