विश्व समाचार समाचार

सऊदी अरब में ब्रिटिश राजदूत ने अपनाया इस्लाम, पत्नी हुदा के साथ अदा किया हज

नई दिल्ली। सऊदी अरब में ब्रिटिश राजदूत ने इस्लाम क़ुबूल कर अदा किया है। अभी हाल ही में एक रिपोर्ट के मुताबिक विश्व में सबसे तेजी से बढऩे वाला धर्म इस्लाम है और आने वाले समय में इस्लाम के मानने वालो की संख्या सबसे अधिक हो जाएगी, जो सच होता दिख रहा है। जैसे-जैसे इस्लाम धर्म पर उगलियाँ उठ रही हैं वैसे-वैसे इस्लाम के मानने वालो में बढ़ोतरी होती जा रही हैं। अरब न्यूज की खबर के मुताबिक उन्होंने बुधवार को मीडिया इंटरव्यू के अनुरोध को इनकार करते हुए सिर्फ इतना कहा कि मैंने और मेरी पत्नी हुदा पिछले तीस सालों से मुस्लिम सोसाइटी में रह रहे हैं और इसके बाद इस्लाम धर्म अपनाया यह खबर सोशल मीडिया पर भी वायरल भुखार की तरह फैल गई हैं। रिपोर्ट के अनुसार साइमन कॉलिस दुबई में (2000-2004) के बीच और बसरा में (2004-2005) में वह ब्रिटिश वाणिज्य दूत जनरल के रूप में रहें. साथ ही उन्होंने 1991 से 1994 तक प्रथम सचिव के रूप में नई दिल्ली में भी अपनी सेवाएं दीं। बुधवार को कॉलिस ने मीडिया के सामने जवाब देने से मना कर दिया, उन्हों ने कहा कि 30 साल से मुस्लिम सोसाइटी में रहने के दौरान और हुदा के साथ शादी से पहले अपने धर्म को इस्लाम में परिवर्तित कर चूका था
कॉलिस सऊदी अरब में पिछले साल जनवरी के बाद जब जॉन जोंकिंस राजदूत के पद से सेवानिवृत्त हुवे तब से कार्यरत हैं । काउंसिल ऑफ ब्रिटिश हाजीस के राशिद मोगरादी ने इस तारीखी कारनामे के लिए और हज अदा करने के लिए राजदूत को बधाई दी, और उन्हों ने यह भी कहा की वह हजारों ब्रिटिश हजयात्रियों में से एक हैं. एक समय था जब पश्चिम में इस्लाम और मुसलमानों के खिलाफ प्रतिकूल परचार था. राजदूत के इस्लाम धर्म को क़ुबूल करने से इसे एक सर्वभोमिक और शांति प्रिय धर्म के रूप में देखा जा रहा है। कॉलिस अरबी बोलते हैं उन्हों ने कहा कि अरबी अध्यन करने के बाद 1978 में इसे ब्रिटेन के एफसीओ में शामिल कर लिया गया है. वह पांच बच्चों के पिता हैं उसकी पहली पोस्टिंग बहरैन में सेकेण्ड सेक्रेटरी (1981-1984) के पद पर हुई थी. वह इराक़ में ब्रिटिश राजदूत के पद 2012 से 2014 तक रहे, और बसरा में 2004 से 2005 तक कार्यरत रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *