संयुक्त राष्ट्र में भारत ने पाकिस्तान  की झूठ का किया पर्दा फास

न्यूयॉर्क। भारत ने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को करारा जबाव दिया है। शुक्रवार को इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र में भारत पर आरोप लगाया था कि वो कश्मीर की जनता पर अत्याचार कर रहा है।  जिनका शिनवार को भारत ने जवाब दिया। संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने कहा कि इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र के मंच का गलत इस्तेमाल किया है। आतंकवाद को लेकर भारत ने पाकिस्तान पर गंभीर सवाल उठाए। विदिशा मैत्रा ने कहा, “क्या पाकिस्तान इस तथ्य की पुष्टि करेगा कि वह आज,  यूएन द्वारा घोषित किए गए 130 आतंकवादियों और 25 आतंकी संगठनों का घर है?” विदिशा मैत्रा ने आगे कहा, “क्या पाकिस्तान इस बात को मानेगा कि वह दुनिया की अकेली ऐसी सरकार है जो यूएन द्वारा प्रतिबंधित अल-कायदा और आईएसआईएस के एक आतंकवादी को पेंशन देती है। क्या पाकिस्तान समझा सकता है कि क्यों यहां न्यूयॉर्क में उसके हबीब बैंक पर टेरर फाइनेंसिंग के लिए जुर्माना लगाया गया और फिर क्यों बैंक बंद करना पड़ा।” विदिशा मैत्रा ने यह भी कहा कि क्या पाकिस्तान इस बात को झुठला सकता है कि वह ओसामा बिन लादेन का खुला समर्थक था। भारत ने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार का मुद्दा भी उठाया। विदिशा मैत्रा ने कहा, “पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की तादाद आज महज 3 फीसदी रह गई है, जो कभी 1947 में 23 फीसदी थी। ईसाइयों, सिखों,  अहमदियाओं,  हिंदुओं,  पश्तूनों,  सिंधियों और बलूचों पर ईशनिंदा के कानूनों के जरिए अत्याचार किया जा रहा है और जबरन धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *