शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

वर्तमान समय की आवश्यकता है साइबर सुरक्षा :लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा

वर्तमान समय की आवश्यकता है साइबर सुरक्षा :लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा
एमिटी विश्वविद्यालय में साइबर सुरक्षा विषय पर एक दिवसीय नेशनल वर्कशॉप आयोजित
ग्वालियर (संवाददाता)। स्मार्ट फोन, सोशल मीडिया साइट्स हों या हाईटेक कंप्यूटर सिस्टम, इनमें से कोई भी साइबर हमलावरों की पहुंच से दूर नहीं है। एमिटी विश्विद्यालय मध्यप्रदेश के एमिटी स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के सीएसई विभाग में साइबर सिक्योरिटी बिषय पर आयोजित एक दिवसीय नेशनल वर्कशॉप के अवसर पर एमिटी विश्विद्यालय के वाइस चांसलर लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा (एवीएसएम) ने समाज में बढ़ते साइबर अपराधों पर चिंता व्यक्त करते हुए बताया कि वर्तमान समय में मानव जीवन इन्टरनेट पर आधारित है। उन्होंने कहा कि हमारी बैंकिंग से लेकर ज्ञानार्जन के लिए भी इन्टरनेट पर निर्भरता है। ऐसे में साइबर सुरक्षा को कई खतरों और चुनौतियों का भी सामना करना पड़ रहा है और इस साइबर आश्रित युग में संचार, ऑनलाइन बैंकिंग व देशहित की गोपनीय सूचनाओं को चुराने वाले हैकर उन्हें लौटने के एवज में फिरौती मांगने जैसे अपराधों को अंजाम दे रहे है लिहाजा सभी को अपना डेटा सुरक्षित रखना जरुरी है और अपराध रोकथाम के ठोस उपाय करने होंगे। वहीं देश के जाने माने साइबर सुरक्षा एक्सपर्ट निखलेश भदौरिया ने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस स्मार्ट फोन, कंप्यूटर, ईमेल्स आदि के पैटर्न लॉक को अनलॉक तथा सुरक्षित लॉगआउट के बाद भी कंप्यूटर से आईडी और पासवर्ड हैकिंग और साइबर सुरक्षा की तकनीक से अवगत कराया।श्री भदौरिया ने बताया कि किसी भी वेबसाइट की ‘ई-प्रोटेक्टÓ और ‘ई-फोरमÓ सु विधा के जरिए साइबर हमलों, साइबर हरेसमेंट, ई-मेल ट्रेकिंग, डाटा रिकवरी आदि से संबंधित समस्याओं के समाधान पा सकेंगे। निखलेश के अनुसार ई-मेल, सोशल मीडिया अकाउंट आदि से लॉगआउट करने के बाद जब तक सिस्टम को शट डाउन न किया जाए तब तक यूजर के अकाउंट को आसानी से हैक किया जा सकता है। सत्र के दौरान एसेट के प्रोफेसर डॉ राजीव गोयल ने रॉउटर्स और स्विचिस कॉन्फिगरेशन की तकनीक को हैंड्स-ऑन ट्रेनिंग के मध्याम से सिस्को पैकेट ट्रेसर पर, प्रतिभागियों से साझा किया। व्?याख्?यान के अंतिम सत्र के दौरान एमिटी सीएसई की नेशनल वर्कशॉप ऑर्गेनाइजिंग सेक्रेटरी असि.प्रो.दिव्या गौतम ने संचार, नेटवर्क और साइबर सुरक्षा विषयों पर नवीनतम तकनीक के बारे में जानकारी साझा की। वर्कशॉप के समापन पर प्रोफेसर राजीव गोयल और कांफ्रेंस कोऑर्डिनेटर डॉ.दिव्या गौतम ने धन्?यवाद ज्ञापन प्रेषित किया। इस दौरान सभी प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र से समानित किया गया। इस अवसर पर एमिटी विश्विद्यालय के प्रो-वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉ.एमपी कौशिक, रजिस्ट्रार राजेश जैन, डीन रिसर्च प्रोफेसर डॉ. एसपी बाजपेयी, डीन एकेडमिक प्रोफेसर डॉ.आरएस तोमर, डायरेक्टर एसेट मेजर जनरल डॉ.एससी जैन(वीएसएम), प्रोफेसर डॉ.अनिल वशिष्ठ, वर्कशॉप कन्वीनर एवं सीएसई विभागाध्यक्ष डॉ.हेमंत सोनी सहित सभी फैकल्टी एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *