विश्व समाचार समाचार

रोहिंग्याई बच्चों पर यूनिसेफ ने जताई चिन्ता

रोहिंग्याई बच्चों पर यूनिसेफ ने जताई चिन्ता
संयुक्त राष्ट्र। रोहिंग्याई बच्चों पर यूनिसेफ ने भंगीर चिन्ता जताई है। यूनिसेफ ने कहा है कि बंग्लादेश में विस्थापन के बाद लाखों रोहिंग्याई बच्चों की हालत खराब है। उन पर बिमारियों का खतरा4 मडरा रहा है।
बंगलादेश में यूनिसेफ के प्रमुख एड्राड बैग्बिदर ने बुधवार को कहा था कि मानसून और तूफान के .हा के हालात भयानक हैं। हजारों बच्चे पहले ही भयानक हालात में रहने पर मजबूर हैं और उनको बीमारी, सैलाब, लैंड स्लाइडिंग के कारण उन्हें एक बार फिर विस्थापन झेलना पड़ सकती है। यूनिसेफ के मुताबिक शरणार्थी कैंपों में डपथैरिया फैलने से 32 लोगों की जान जा चुकी है।
रोहिंग्याई बच्चीं में डपथैरिया के लगभग 4000 संदिग्ध केस सामने आये हैं। इस बीमारी को फैलने से रोकने और लोगों की जिंदगियों को बचाने के लिए यूनिसेफ और विश्व संस्था डब्ल्यूएचओ सहित संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियां लगभग पांच लाख बच्चों को डपथेरिया वेक्सिन लगाने का काम कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *