जीवनशैली समाचार

रेवाड़ी की लड़की ने मात्र 46 दिनों में पूरी की 5000 किमी की यात्रा

रेवाड़ी की लड़की ने मात्र 46 दिनों में पूरी की 5000 किमी की यात्रा
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को बढ़ावा देना था मकसद झ्र सुनीता सिंह चौकन
एमिटी युनिवर्सिटी हरियाणा ने सुनीता सिंह चौकन को किया सम्मानित
कन्याकुमारी से लेकर खाड़दुंगला तक साईकिल पर किया फासला तय
गुरूग्राम (संवाददाता)। एमिटी युनिवर्सिटी हरियाणा में हरियाणा की बेटी (मूल निवासी रेवाड़ी) सुनीता सिंह चौकन को आज सम्मानित किया। कन्याकुमारी से खाड़दुंगला तक का रास्ता तय करने वाली सुनीता के लिए यह कोई नई बात नहीं है। राष्ट्रपति से नारी शक्ति अवार्ड सम्मानित सुनीता पहले माऊंट ऐवरेस्ट की चोटी को फतेह कर चुकि है। पर इस तरह कि चुनौति को पहली बार पार किया है। सुनीता हरियाणा की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कैपेन की ब्रेंड अंबेस्डर भी है। 2012 में सुनीता को भारत गौरव अवार्ड से सम्मानित किया और 2013 में बीएसएफ डाटर से भी सम्मानित किया।


25 साल की सुनीता ने 5000 किमी की दूरी मात्र 46 दिनों में पूरी की। कई बार थकान के कारण सब खत्म करके घर जाने का मन तो करता पर बुलंद हौसलों और दृढ़ निश्चय के कारण जीत हासिल कर पाई।
हरियाणा की बेटी सुनीता ने बताया कि रास्ते में लोगों से बहुत प्यार मिला, भारत की संस्कृति यकीनन बेहद अच्छी है यूनिटी ईज डाईवरस्टी की सबसे बेहतरीन मिसाल है। इन 46 दिनों की यात्रा में मुझे बेहद प्यार मिला और जगह जगह लोगों ने मेरी सेवा की और हौंसला बढ़ाया। ये पूरी जर्नी में थकावट बहुत हुई पर मन में ठान ली थी के देश में बेटियों का मान बढ़ाना है तो मैं रूकी नहीं और लोगों की हौंसलाअफजाही ने मनोबल को टूटने नहीं दिया।


विद्यार्थियों को संबोघधित करते हुए सुनीता ने कहा कि जीवन में सब कुछ मुमकिन है, बस खुद पर विश्वास रखे। ओमनीसंघ ने मेरा काफी साथ दिया सपोंसरशिप में, वर्ना ये सब अचीव करना मुमकिन नही था। हंसराज जी, स्पोर्टस मैनेजर, एमिटी युनिवर्सिटी हरियाणा ने भी काफी मदद की। एमिटी युनिवर्सिटी का धन्यवाद करती हू।


मै सब जन से अपील करती हू कि किसी भी अच्छे मौके पर चाहे सैलेरी का समय हो, या कोई त्यौहार या अच्छा रिजल्ट उस दिन एक पेड़ जरूर लगाए। क्योंकि हमें आज के समय में पर्यावरण की देख रेख करनी भी बहुत जरूरी है।
प्रो (डॉ) पी बी शर्मा, वाईस चांसलर, एमिटी युनिवर्सिटी हरियाणा ने मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि यह युविका हमारे देश में युवाओं की एक प्रेरणा है।
एमिटी युनिवर्सिटी हरियाणा में  हुए सम्मान समारोह में मेजर जनरल बी एस सुहाग (रिटायर्ड), मेजर जनरल जी एस बल(रिटायर्ड), हंसराज, डॉ गुरप्रीत मक्कड़, प्रवीण गहलोत, डॉ विवेक बालयाण, ओमनीसंघ के संस्थापक फैकल्टी स्टाफ और सैकड़ो विद्यार्थी मौजूद थे।
सुनीता सिंह की पूरी यात्रा आॅफराडर्स ब्लाग ने कवरी की है। जिसका हर दिन का लेखा जोखा दिया गया है। पढ़ने के लिए आफराडर्स पर पूरी यात्रा पढ़ सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *