विश्व समाचार समाचार

रावण को आतंकवाद से जोडऩे वाले मोदी के बयान की श्रीलंका में आलोचना

रावण को आतंकवाद से जोडऩे वाले मोदी के बयान की श्रीलंका में आलोचना
कोलंबो। रावण को आतंकवाद से जोडऩे वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दशहरा के दिन दिए गए बयान की श्रीलंका में रावण के अनुयायियों ने आलोचना की है।
लखनऊ में 11 अक्तूबर को विजयादशमी के मौके पर अपने भाषण में मोदी ने रावण के साथ आतंकवाद को जोड़ते हुए कहा, आतंक से लडऩे वाला पहला व्यक्ति न तो कोई सैनिक था और न ही कोई नेता बल्कि एक पौराणिक पक्षी जटायु था, जो असहाय सीता की रक्षा के लिए रावण से लड़ा था, जिनका रावण अपहरण करने का प्रयास कर रहा था। रावण फोर्स का नेतृत्व करने वाले बौद्ध भिक्षु इत्तापाने साद्धातिस्सा ने कहा, हम आतंकवादी से राजा रावण की तुलना करने वाले भारतीय प्रधानमंत्री के बयान की निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि रावण फोर्स इस बयान के खिलाफ  विरोध जताते हुए यहां भारतीय उच्चायोग को शीघ्र याचिका सौंपेगा।
साद्धातिस्सा ने कहा कि मोदी का बयान श्रीलंका में चल रही सुलह की प्रक्रिया को बाधित करता है। एक अन्य संगठन रावण शक्ति ने कहा कि रावण को रामायण में भी आतंकवादी नहीं बताया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *