समाचार

राजधानी की ट्राफिक समस्या से जल्द मिलेगी निजात, सरकार बना रही है नीति

नई दिल्ली (विशारद टाइम्स)। देश की राजधानी दिल्ली की दिन प्रति दिन बढ़ती आबादी और उसपर वाहनों की रेलमपेल ने ट्राफिक व्यवस्था को चरमराकर रख दिया है। इस समस्या से निपटने के लिए एक नीति बनाई जा रही है। जिससे बढ़ते ट्राफिक सी समस्या हल किया जा सके।
दिल्ली यातायात पुलिस के विशेष आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने गुरुवार को अपने वार्षिक पत्रकार सम्मलेन में इसका खुलासा किया है।
विशेष आयुक्त दीपेन्द्र पाठक ने पत्रकारों को बताया कि दिल्ली की आबादी लगातार बढ़ रही है। ईइस समय दो करोड़ के आस-पास है। वहीं शहर में वाबहनों की संख्या भी बढ़कर एक करोड़ हो गयी है। इसके अलावा पड़ोसी राज्यों से 15-20 लाख वाहन हर रोज राजधानी में आते जाते हैं ऐसे में ट्रैफिक को देख पाना बहुत मुश्किल होता जा रहा है।
विशेष आयुक्त ने कहा कि इनमें से किसी एक समस्या के निदान से काम नहीं चलेगा। यातायात को सही और सुचारित करने के लिए सभी का समाधान करना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि यातायात नियमों की अनदेखी एक चलन बनता जा रहा है। ये नियम सिर्फ सड़कों पर वाहनों के चलने के लिए नहीं बनाए गए बल्कि सड़क पर चलने वाले पैदल यात्रियों तथा वाहन चलाने वालों की सुरक्षा भी इससे जुड़ी है। ऐसे में इनका स ती से पालन होना जरूरी है, इसलिए यातायात की नयी नीति तैयार की जा रही है जिसमें नियमों का उल्लंघन करने वालों और पार्किंग माफियाओं के खिलाफ स त प्रावधान होंगे। विशेष आयुक्त ने कहा कि वैसे यातायात पुलिस अपनी तरफ से ट्रैफिक नियंत्रण और निगरानी के हरसंभव प्रयास कर रही है। शहर में दुर्घटना संभावित क्षेत्रों को चिन्हित कर वहां यातायात नियंत्रण के विशेष उपाय किए गए हैं। भीड़-भाड़ वाले चैराहों पर सीसीटीवी कैमरों से वाहनों पर नजर रखी जा रही है। ट्रैफिक नियमों की अनदेखी करने वालों के खिलाफ हर संभव कार्रवाई की जा रही है। लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक बनाने के लिए स्कूलों, कॉलेजों और सार्वजनिक स्थलों पर समय समय पर कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *