यूपी बोर्ड परीक्षा में टॉप करने वाली छात्राएं

लखनऊ (वीटीएन) यूपी बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित हो गए है जिसमे इंटरमीडिएट में बागपत जिले के फतेहपुर पुट्ठी गांव की रहने वाली तनु ने इंटरमीडिएट की परीक्षा में यूपी टॉप करते हुए 97.80 प्रतिशत अंक प्राप्त किये है कस्बा बडौत के राम इंटर कॉलिज की छात्रा तनु तोमर के यूपी टॉप करने के बाद उनके गांव ही नही कॉलिज में छात्राओं ओर शिक्षकों में खुशी का माहौल है ओर उन्होंने अपनी खुशी इजहार करते हुए ढोल नगाड़ों पर जमकर डांस किया और मिठाइया बांटकर खुशियां मनाई है । प्रयागराज शहर से क़रीब 80 किलोमीटर दूर कोरांव तहसील के सरदार पटेल इंटरमीडिएट कॉलेज की आकांक्षा शुक्ला ने यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट की परीक्षा में तीसरा स्थान हासिल किया है। आकांक्षा शुक्ला ने बेहद ग्रामीण परिवेश में रहकर पढ़ाई कर यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में तीसरा स्थान हासिल किया। उन्होने कहा की इसमे उनकी ख़ुद की मेहनत के साथ गुरुजन (अध्यापकों) क़ा योगदान रहा। उन्होने कहा की छात्रों को कोचिंग के बजाय ख़ुद की पढ़ाई पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए। बता दे की आकांक्षा शुक्ला के पिता किसान हैं। जो की खेती बारी क़ा कार्य करते हैं। आकांक्षा के इंटरमीडिएट में तीसरा स्थान हासिल करने की सूचना पर स्कूल में जश्न क़ा माहौल बन गया। छात्रा के परिजनों के साथ अध्यापकों ने मिठाई खिलकर बधाई दी।   गाजीपुर। हाईस्‍कूल व इंटरमीडिएट के रिजल्‍ट में लड़कियों ने फिर एक बार बाजी मारी है। हाईस्‍कूल में नेहा चौहान ने 94.17 प्रतिशत अंक प्राप्‍त कर जिले में टाप किया है। नेहा चौहान मां देईया इंटर कालेज बिजोरा की छात्रा है। इंटरमीडिएट में लुदर्स कानवेंट इंटर कालेज के 12वीं की छात्रा स्‍वाती सिंह यूपी के रैंक में सातवां स्‍थान प्राप्‍त किया है और जिले में टाप टेन में है। स्‍वाती सिंह 93. 20 प्रतिशत अंक प्राप्‍त की हैं। स्‍वाती सिंह ने मीडिया से बातचीत में बताया कि इसकी सफलता के पीछे सभी टीचरों का आशीर्वाद व योगदान है। यह नगर के बडा़ महादेवा स्थित राकेश सिंह की पुत्री है। इस मौके पर कालेज की प्रिंसिपल सिस्‍टर अल्‍फोंसा ने खुशी जताते हुए स्‍वाती सिंह को माल्‍यार्पण कर मिठाई खिलाकर आशीर्वाद दिया। जिलाधिकारी के बालाजी ने सफल छात्र-छात्राओं को बधाई दी है यूपी बोर्ड की परीक्षा में प्रदेश में दूसरा स्थान प्राप्त कर छात्रा भाग्यश्री उपाध्याय ने गोंडा जिले का नाम रोशन किया है… गोंडा के खरौरा गांव की रहने वाली भाग्यश्री ने यह मुकाम अपने गांव के स्कूल में पढ़कर प्राप्त किया है… जहां सुविधाओं की कमी है। लेकिन अपनी मेहनत और लगन से भाग्यश्री ने वह कर दिखाया जो बड़े-बड़े शहरों व कॉन्वेंट जैसे स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राएं नहीं कर पाते है । इस सफलता से भाग्यश्री के माता पिता व परिवार के सभी सदस्य बहुत ही खुश हैं। भाग्यश्री अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता व शिक्षकों को देते हुए कहती है कि वह ऐसे ही आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं और सिविल सर्विसेज की तैयारी करते हुए आईएस अफसर बनना चाहती है। भाग्यश्री उस इलाके से आती हैं जहां बच्चों को पढ़ने के लिए जरूरी सुविधाएं न स्कूल पर मिल पाती है और ना ही घर पर। 95 .2 प्रतिशत अंक प्राप्त कर प्रदेश में दूसरा स्थान पाने वाली भाग्यश्री पिछड़े जिलों में गिने जाने वाले गोंडा जिले के तराई क्षेत्र में बेलसर से हैं… जहां आए दिन बिजली की समस्या आम बात है व शिक्षा की गुणवत्ता भी शहरी इलाकों की तुलना में निम्न है। ऐसे इलाके से पूरे प्रदेश में नंबर दो स्थान लाना निश्चित ही परिवार को गर्व करने के लिए मजबूर करता है। भाग्यश्री के माता पिता पेशे से शिक्षक हैं.. पिताजी जहां प्राथमिक विद्यालय में अध्यापक हैं वहीं भाग्यश्री की माता उच्च माध्यमिक विद्यालय में अध्यापिका हैं। भाग्यश्री ने इस मौके पर अपने परिवार व शिक्षकों के साथ मिठाई खाकर अपनी खुशी जाहिर की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *