समाचार स्वास्थ्य

युवाओ में बढ़ रहा है स्ट्रोक का प्रकोप – डा. राहुल गुप्ता

युवाओ में बढ़ रहा है स्ट्रोक का प्रकोप – डा. राहुल गुप्ता

नोएडा (अजित कुमार)। आराम तलब जीवन जंक फूड और तनाव के कारण युवाओं में स्ट्रोक के मामले बढ़ रहे है। इसका इलाज न कराने पर मस्तिष्क की कोशिकाओं, इम्पिडिंग मोटर और अवाज को नुक्शान हो सकता है। इस संबंध में नोएडा के फोर्टिज अस्पताल के न्योरोसर्जन डा. राहुल गुप्ता ने बताया कि कुछ समय पहले तक युवाओं में स्ट्रोक के मामले सुनने को नई मिलते थे। लेकिन अब युवाओं में भी इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं। उन्होंने कह कि इस का मुख्य कारण उच्च रक्तचाप, मधुमेह, शराब का सेवन, धूम्रपान, और मादक पदार्थों की लत के अलावा आरामतलब जीवन शैली, मोटापा, जंक फूड का सेवन और तनाव है। युवा रोगियों में यह अधिक घातक साबित होता है।

क्योंकि यह उन्हों जीवन भर के लिए विक्लांग बना सकता है। इनके अतिरिक्त डा. बलजीत सिंह भाटी, डा. अनुराग अग्रवाल, डा. अमर प्रीत सिंह, डा. अर्नब दास गुप्ता, डा. ज्योती बाला शर्मा, डा. अर्विदं नन्दा और डा. विनय गोयल ने न्यूरो साइंस के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला।
डा. ज्योती बाला शर्मा ने कहा कि दुनिया प्रतिवर्ष दो करोड़ लोग स्ट्रोक से पीड़ित होते हैं। इनमें 50 लाख लोगों की मौत हो जाती है। डा. राहुल गुप्ता ने कहा ब्रेन स्ट्रोक भारत में कैंसर के बाद दूसरा प्रमुख कारण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *