मेडिकल रिपोर्ट ने पुलिस के दावे को बताया झूठा- कश्मीरी युवक की पैलेट गन हुई थी मौत

नई दिल्ली…श्रीनगर के इलाहीबाद में कुछ दिन पूर्व 17 वर्षीय छात्र असरार अहमद की मौत पर विवाद और गहराता जा रहा है…मेडिलक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि असरार की मौत पैलट गल की इंजरी से हुई है…जब कि पुलिस का दावा था कि

ट के कारण हुई है…

शेर-ए-कश्मीर इन्स्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज से जारी हुआ असरार के डेथ सर्टिफिकेट से खुलासा हुआ है कि उसकी मौत पैलेट इन्ज्यूरी विद शेल ब्लास्ट इन्ज्यूरी से हुई है… सर्टिफिकेट पर लिखा गया है कि असरार को 06 अगस्त को अस्पताल में भर्ती किया गया था… उसकी डेथ डेट तीन सितंबर रात 8.15 बजे अंकित है… मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक उसके चेहरे और आंखों पर पैलेट गन इंज्यूरी थी..‘द प्रिंट’ ने मेडिकल सर्टिफिकेट की कॉपी छापी है….

इससे पहले ‘द टेलीग्राफ’ और ‘वाशिंगटन पोस्ट’ ने भी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि असरार अहमद की मौत पैलेट गन इंज्यूरी से हुई है… करीब एक महीने तक वेंटिलेटर पर रहने के बाद पिछले हफ्ते उसकी मौत हो गई थी… डॉक्टरों ने उसकी दो बार सर्जरी की थी। इसके बाद असरार के परिजनों को उम्मीद थी कि अब वह बच जाएगा। 17 वर्षीय असरार काफी होनहार था… उसने 10वीं बोर्ड की परीक्षा में 10 में से 9 प्वाइंट हासिल किए थे… गणित और विज्ञान में 100 में से 100 अंक पाप्त हुए थे–

‘द टेलीग्राफ’ और ‘द वायर’ के रिपोर्टर ने असरार अहमद के परिजनों से मुलाकात कर उसकी मेडिकल प्रूफ हासिल किए थे… उसमें एक्सरे रिपोर्ट, स्केलटन रिपोर्ट और अस्पताल में एडमिट होने की पर्ची थी, जो साफतौर पर इस बात की तस्दीक कर रहे थे कि असरार अहमद को पैलेट गन इंज्यूरी हुई थी… बावजूद पुलिस मामले पर पर्दा डालती रही। बता दें कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के अगले दिन 6 अगस्त की शाम करीब पांच बजे अपने घर के पास ही दोस्तों संग क्रिकेट खेल रहा था… इसी दौरान उसकी गेंद 90 फुटा रोड पर चली गई जहां असरार बाउंड्री पार कर पहुंचा था… वहां से सीआरपीएफ की टुकड़ी पार कर रही थी… असरार के भाई के मुताबिक, वह वहीं पर था.. अचानक सुरक्षाकर्मियों ने कहना शुरू कर दिया कि कर्फ्यू लग गया है,  सब लोग चले जाएं और तुरंत पैलेट गन से फायरिंग कर दी…. इसमें रोड पर पहुंचा असरार घायल हो गया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *