समाचार

भारत-पाक सीमा के पास देखे गए मानवरहित विमान, तनाव जारी : बीएसएफ

नई दिल्ली। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने मंगलवार को कहा कि भारतीय बलों की ओर से किए गए लक्षित हमलों के मद्देनजर पश्चिमी मोर्चे पर तनाव बना हुआ है और उसने कुछ ही समय पहले भारत-पाक सीमा के बेहद करीब मानवरहित विमानों को देखा है।
संपूर्ण सुरक्षा को बढ़ाने के उपायों के तहत, सीमा की सुरक्षा करने वाले बल ने बांग्लादेश के साथ लगने वाले पूर्वी मोर्चे पर भी सुरक्षा तंत्रों की तैयारी का जायजा लिया ताकि आतंकवादी भारत में घुसपैठ करने के लिए और हमले बोलने के लिए उस देश का इस्तेमाल न कर सकें। बीएसएफ के महानिदेशक के के शर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि निश्चित तौर पर पश्चिमी सीमाओं पर संपूर्ण चौकसी को बढ़ा दिया गया है। रक्षा और सुरक्षा बलों के सभी प्रतिष्ठान उच्चतम अलर्ट पर हैं। पश्चिमी सीमा पर तनाव है। नियंत्रण रेखा पर लगातार दूसरी ओर से गोलीबारी हो रही है। हालांकि हम नियंत्रण रेखा पर :सेना के: सहायक की भूमिका में हैं। उन्होंने कहा कि बीएसएफ और उसके बांग्लादेशी समकक्ष बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश :बीजीबी: ने भारत द्वारा नियंत्रण रेखा के पार किए गए लक्षित हमलों के बाद की सुरक्षा स्थिति पर आज संपन्न हुई द्विवाषिर्क वातार्ओं के दौरान चर्चा की और दोनों ही बल अत्यधिक सतर्कता बरत रहे हैं।  बीएसएफ के महानिदेशक ने कहा, हालांकि (आतंकियों द्वारा बांग्लादेश की धरती का इस्तेमाल किए जाने के बारे में) कोई नई जानकारी नहीं है, भारत-बांग्लादेश सीमा पर भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। शर्मा ने कहा कि हालांकि जम्मू, पंजाब, राजस्थान और गुजरात से होकर गुजरने वाली अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तनाव है, इन इलाकों में अभी तक संघर्ष विराम का उल्लंघन नहीं हुआ है।
उन्होंने कहा, हमने मानवरहित विमानों को सीमा के 100 मीटर के दायरे में आते हुए देखा है। शायद वे :पाकिस्तानी बल: हमारी तैयारी की जानकारी लेना चाहते हैं लेकिन मैं आपको यकीन दिला सकता हूं कि हम करारा जवाब देने में समर्थ हैं और आतंकियों के किसी भी नापाक इरादे को कामयाब नहीं होने देंगे। बीएसएफ प्रमुख ने कहा कि बल ने सीमा पर गांवों को खाली कराने का कोई आदेश जारी नहीं किया है और ऐसे निर्देश राज्यों के नागरिक प्रशासनों ने जारी किए हैं। उन्होंने कहा, हम तो भारतीय किसानों को उनके उन खेतों तक भी जाने दे रहे हैं, जो भारत-पाक के बीच की बाड़ के पार हैं। हमने कभी गांव खाली करने के लिए नहीं कहा, लोग शायद ऐहतिहात के तौर पर चले गए हों। जो लोग चले गए थे, वे अब वापस आ रहे हैं।
अब तक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कोई अप्रिय घटना नहीं घटी है। अटारी-वाघा पर होने वाले र्रिटीट समारोह के दौरान हाल ही में हुई एक घटना के बारे में शर्मा ने कहा कि भारतीय पक्ष की ओर एक पत्थर फेंके जाने की घटना सामने आई थी लेकिन वह किसी को लगा नहीं और यह मामला समकक्ष पाकिस्तानी रेंजरों के संज्ञान में लाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *