शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

भारत की प्रतिक्रिया एंड परिवर्तन विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ

एमिटी में उपनिवेशवाद के बाद : भारत की प्रतिक्रिया एंड
परिवर्तन विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ
नोएडा (अकांक्षा)। एमिटी लॉ स्कूल नोएडा द्वारा आयोजित उपनिवेशवाद के बाद -भारत की प्रतिक्रिया एंड परिवर्तन विषय पर राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ आज एमिटी विश्वविद्यालय, सैकटर 125 नोएडा में किया गया। इस सम्मेलन का शुभारंभ साउथ एथियन युनिवर्सिटी की अध्यक्ष डा कविता शर्मा, संघ लोक सेवा आयोग के सदस्य प्रोफेसर पुरूषोत्तम अग्रवाल, जामिया के स्कूल ऑफ लॉ के डीन प्रोफेसर नूजहत प्रवीण खान, एमिटी लॉ स्कूल के चेयरमैन डा डी के बंदोपाध्याय, एमिटी लॉ स्कूल सेंटर टू के एडिशनल निदेशक डा आदित्य तोमर ने पारम्परिक दीप जलाकर किया। जामिया के स्कूल ऑफ लॉ के डीन प्रोफेसर नूजहत प्रवीण खान ने कहा कि आपके द्वारा चुने गए गए विषय पर फोकस करना जरूरी है। शिक्षा एक ऐसा जरूरी उपकरण है जिससे समाज में बढ़े स्तर पर बदलाव लाए जा सकते है। आजादी से पहले देश में निरक्षरता एंव गरीबी की समस्या बहुत थी। अब जाकर षिक्षा के कारण देश में लिंग समानता एंव रोजगार की समस्या पहले से कम हुई है। पहले किसी भी कक्षा में लड़कियां कम होती थी पर अब इंजिनियरिंग जैसे कोर्स में भी लड़कियां देखी जा सकती है। लेकिन आज भी भारत देश को बहुत कुछ हासिल करना होगा आज भी देश में ऐसी समस्याओं ने अपने पैर पसार रखे है। बड़े बड़े पदों में लड़कियों को कम देखा गया है। सरकार ने लड़कियों के हक एंव अधिकारों के लिए कई प्रकार के योजनाएं बनाई है पर तभी देश में लड़कियों को आज भी अपने अधिकार के लिए लडऩा पड़ता है। सोच में बदलाव की जरूरत है तभी देश विकास तेजी से करेगा। एमिटी लॉ स्कूल के चेयरमैन डा डी के बंदोपाध्याय ने संबोधित करते हुए कहा कि इस सम्मेलन से आप सभी को कई नए प्रकार के विचार एंव ज्ञान प्राप्त होगा। एमिटी सदैव इस प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन करता
है ताकि छात्रों को अधिक अधिक से जानकारी प्राप्त हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *