शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

फ्रेंच प्रतिनिधिमंडल ने किया एमिटी विश्वविद्यालय का दौरा

नोएडा (अनिल दुबे)।

एमिटी विश्वविद्यालय की शिक्षण गुणवत्ता से प्रभावित होकर फ्रेंच प्रतिनिधिमंडल केनौ सदस्यों ने एमिटी विश्वविद्यालय का दौरा किया। इस प्रतिनिधिमंडल में नेटर्वक एऩआइके जीन पेरी ट्रोटीग्नोन के नेतृत्व में नेटर्वक एऩआइ के जार्ज सैनटिनी, नेटर्वकएऩआइ की गोल्डा मल्होत्रा, इएनएसइइआईएचटी की डैनियेल एंड्रयू, इएसटीएसीए की फराह हेफिड, इपीआईटीए की नाजिमा कांडा, इएनएसआईएसए के लॉरेंट बिग्यू, सिग्मा केंरमोंट की आंड्री मारग्यूरी एंव इएनपीसी के लेस पांट्स पैरिस टेक के थिबाउट स्कारजेपेक षामिल थे। इस प्रतिनिधिमंडल का स्वागत एमिटी गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह, एमिटी इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी के प्रमुख एंव इंजिनियिरिंग डिजाइन एंड रिर्सच के सलाहकार डा रवि प्रकाष ने किया।नेटर्वक एऩआइ के जीन पेरी ट्रोटीग्नोन ने नेटर्वक एनआइ के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि नेटर्वक एऩआइ एक बृहद इंजिनियरिंग स्कूल नेटर्वक है जिसमें कई संस्थान शामिल है।

हम छात्रों को इंजिनियरिंग प्रषिक्षण के लिए तैयार करते है और उनका मार्गदर्शन भी करते है। नेटर्वक एऩआइ द्वारा़ पीयूआरइ, ़ जीइटी, ़ प्री -डीएल इयर, रेंनडेज योर सहित प्रीमास्टर, मास्टर एन ़, मास्टर आई पाठयक्रम, पोस्ट मास्टर, एफआईईआर -डीओसी एंव डॅाक्टोरल या पीएचडी पाठयक्रम का संचालन किया जा रहा है। उन्होनें कहा कि हम एमिटी के साथ संयुक्त षोध, संयुक्त प्राजेक्ट कार्यक्रम एंव छात्र एक्सचेंज कार्यक्रम पर विचार कर रहे है। ट्रोटीग्नोन ने कहा कि फ्रांस में 5 वर्ष का इंजिनियरिंग का पाठयक्रम पूर्ण करने के उपरंात छात्र को 36 हजार यूरो से 46 हजार यूरो की नौकरी प्राप्त हो जाती है।
एमिटी गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह ने प्रतिनिधिमंडल को संबोधित करते हुए कहा कि स्न 2020 तक भारत विष्व के बड़ी अर्थव्यवस्थाओं मेषुमार किया जायेगा। हम नेटर्वक एऩआइ केसाथ छात्रों एंव षिक्षकों का एक दूसरे संस्थान में आवागमन, संयुक्त शोध एंव छात्रों का मागदर्शन, एमिटी द्वारा संचालित किये जा रहे इंडिया इर्मषन प्रोग्राम पर भी विचार कर रहे है। हम सबसे पहले एक दूसरे के कोर क्षेत्रों के पाठयक्रमों की जानकारी प्राप्त करेगें और उस पर कार्य करेंगे।

————————————————————————————

VIDEO :

————————————————————————————————

इस अवसर पर प्रतिनिधिमंडल ने एमिटी इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी की इंजिनिययरिंग प्रयोगशालाओं का दौरा किया। इस कार्यक्रम में एमिटी स्कूल ऑफ इंजिनियिरिंग एंड टेक्नोलॅाजी के ज्वांइट हेड डा अभय बंसल, एमिटी स्कूल ऑफ आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग के डा डी पी सिंह, एमिटी इंस्टीटयूट ऑफ एप्लाइड सांइस की सहायक निदेषिका प्रो सुनिता सिंह एंव इंटरनेशनल अफेयर डिविजन के विंग कमांडर एस के गोयल भी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *