नोएडा के मजदूरों ने सीटू के नेतृत्व में दूसरे दिन भी विधान सभा पर धरना दिया

लखनऊ (संवाददाता)। श्रम कानूनों को लागू करवाने, वेतन में बढ़ोत्तरी करने व ट्रेड यूनियन बनाने की रंजिश के कारण मैसर्स एक्सीडी इण्डिया लिमिटेड प्लाट नं0 9 उद्योग केन्द्र ग्रेटर नोएडा के प्रबन्धकों द्वारा दर्जनों मजदूरों को गैर कानूनी तरीके से नौकरी से निकाल दिया जिसके खिलाफ कर्मचारियों द्वारा दिनांक 07.11.2017 को जिलाधिकारी कार्यालय सूरजपुर पर रात-दिन लगातार धरना दिया जा रहा है। लेकिन जिला प़शाशन व श्रम विभाग मजदूरों की समस्याओं का समाधान करवाने मे विफल रहा जिसके चलते ही मजदूरों ने बुध्दवार 11-04-2018 से सीटू के नेतृत्व में विधानसभा पर धरना शुरू किया जो गुरुवार दिनांक 12-04-2018 को भी जारी रहा धरने को सम्बोधित करते हुए सीटू उत्तर प़देश के महासचिव कामरेड प़ेमनाथ राय ने कहा कि आज जो मजदूरों पर दमन शोषण उत्पीड़न हो रहा है।

वह केन्द्र व प्रदेश सरकार की मजदूर व जन विरोधी आर्थिक नीतियों का ही परिणाम है और मालिकान श्रम कानूनों की खुलेआम धज्जियां उड़ाते हुए मजदूरों का शोषण कर रहे हैं औऱ जिला प़शाशन व श्रम विभाग मूक दर्शक बने हुए है उन्होंने एक्सीडी के मजदूरों की समस्याओं के समाधान नहीं कराने के लिए श्रम विभाग एवं जिला प्रशासन कड़ी निंदा किया और प़देश सरकार से मांग किया कि एक्सीडी प्रबन्धकों द्वारा गैर कानूनी तरीके से कार्य से रोके गये व सेवा समाप्त किये गये कर्मचारियों को पुराने क्रम में कार्य पर क्षति पूर्ति सहित बहाल कराये और उनकी लम्बित समस्याओं/मांगों पर सम्मानजनक समझौता सम्पन्न कराये नही तो सीटू संगठन और बड़ा आन्दोलन करेगा। धरने को सीटू गौतमबुध्दनगर जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा, एक्सीडी यूनियन के अध्यक्ष अरुण कुमार, विकास, पप्पन, रोशन, दीपक कुमार आदि नेताओं ने सम्बोधित किया।वही आज मजदूरों की समस्याओं के सम्बंध मे सीटू नेता प़ेमनाथ राय, गंगेश्वर दत्त शर्मा, अरुण कुमार, पपन्न कुमार के नेतृत्व मे एक प़तिनिधि मंडल ने श्रम मंत्री माननीय स्वामी प़साद मोर्य से उनके कार्यालय सचिवालय लखनऊ मे मुलाकात कर उन्हें समस्याओं औऱ स्थिति से अवगत कराया जिस पर उन्होंने समस्याओं के समाधान औऱ श्रमिकों की मदद करने का आश्वासन दिया औऱ गौतमबुध्धनगर के जिला प़शासन के लिए लिखित दिशानिर्देश जारी किए ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *