समाचार

नोएडा के छात्रों को अब केमैट परीक्षा के लिए बेंगलूर नहीं जाना पड़ेगा

नोएडा। भारत की सिलिकॉन वैली के रूप में प्रसिद्ध बेंगलूर तथा आईटी हब माने जाने वाले कर्नाटक राज्य के बिजनेस एवं प्रबंधन कॉलेजों में प्रवेश के लिए पहली बार नोएडा एवं राष्टÑीय राजधानी दिल्ली सहित देशभर में 10 से अधिक शहरों में कर्नाटक मैनेजमेंट अप्टीच्यूड टेस्ट (केमैट), 2016 का आयोजन हो रहा है।
यह पहला मौका है जब बेंगलूर और कर्नाटक के बिजनेस कॉलेजों में प्रवेश के लिए केमैट के लिए कनार्टक के अलावा अन्य राज्यों के प्रमुख शहरों में परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं जिनमें नोएडा भी शामिल है। नोएडा के अलावा यह परीक्षा नई दिल्ली, लखनऊ, इलाहाबाद, इंदौर, जयपुर, पटना, पुणे, रांची, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलूर, हैदराबाद, और त्रिचुरापल्ली में भी होगी जिससे देश भर के छात्रों को काफी सहुलियत होगी क्योंकि इससे पहले देश के अन्य राज्यों के छात्रों को परीक्षा देने के लिए बेंगलूर या कर्नाटक जाना पड़ता था।
केमैट, 2016 शैक्षिक वर्ष 2016-17 के लिए प्रबंधन एवं बिजनेस कॉलेजों में प्रवेश का आखिरी मौका है। 29 मई को होने वाली प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए केमैट की आधिकारिक वेबसाइट पर आॅनलाइन पंजीकरण प्रकिया शुरू हो चुकी है जो 10 मई तक जारी रहेगी। 20 मई को वेबसाइट केमैट इंडिया से आॅनलॉन एडमिट कार्ड डाउनलोड किए जा सकेंगे। परीक्षा परिणाम 10 जून को घोषित होगा। इसका पंजीकरण शुल्क 700 रूपए है जिसका भुगतान आॅनलाइन या चैक के जरिए किया जा सकता है। केमैट परीक्षा पेपर एवं पेंसिल आधारित परम्परागत परीक्षा है जिसमें चार वर्गों में मल्टीपल च्वाइस वाले 120 प्रश्न होंगे। परीक्षा में हासिल होने वाले अंकों के आधार पर बेंगलूर और कर्नाटक के एआईसीटीई से मान्यता प्राप्त तथा यूजीसी से संबंद्ध 150 से अधिक बिजनेस कॉलेजों एवं प्रबंधन संस्थानों में प्रवेश मिल सकेगा। ये कॉलेज एमबीए, पीजीडीएम और एमसीए के पाठ्यक्रम संचालित करते हैं। इन कालेजों में एआईएमएस आचार्य, एलायंस यूनिवर्सिटी, आईएफआईएम बिजनेस स्कूल, एमपी बिरला इंस्टीच्यूट, एमएस रमैया, माउंट कार्मेल, पीईएसआईटी जैसे प्रतिष्ठित  कालेज शामिल हैं।
परीक्षा का संचालन करने वाले कर्नाटक प्राइवेट पोस्ट ग्रेजुएशन कॉलेज एसोसिएशन (केपीपीजीसीए) के सचिव डॉ. एम. प्रकाश ने कहा कि यह पहला मौका है जब केमैट का आयोजन राष्ट्रीय स्तर पर हो रहा है और इससे देश के सभी हिस्सों के छात्रों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि केमैट, 2016 भारत के आईटी हब माने जाने वाले बेंगलूर तथा भारत के प्रमुख राज्य कर्नाटक के कॉलेजों में प्रवेश का मार्ग है।
गौरतलब है कि कर्नाटक और उसकी राजधानी बेंगलूर आईटी/आईटीईएस, प्रबंधन एवं स्टार्टअप का प्रमुख केन्द्र बन कर उभरा है और यह भारत की सिलिकॉन बैली के अलावा स्टार्टअप हब भी बन रहा है जहां आईटी, प्रबंधन, उत्पादन, माकेर्टिंग जैसे क्षेत्रों में रोजगार की व्यापक संभावना विकसित हुई है। फ्लिपकार्ट, ओला और प्रैक्टो जैसे अनेक प्रमुख स्टार्टअप की शुरूआत बेंगलूर में हुई। बेंगलूर में इनफोसिस ओर विप्रो टेक्नोलॉजी जैसी प्रमुख आईटी कंपनियों के मुख्यालय हैं तथा टीसीएस, एचसीएस, डेल और कॉगनिजेंट सहित प्रमुख आईटी कंपनियों के मुख्यालय हैं और इस कारण वहां प्लेसमेंट की व्यापक संभावनाएं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *