धर्मक्रम समाचार

कुरान हर इन्सान के लिए हिदायत है ः अशरफ़ी

कानपुर. कुरान हर इन्सान के लिए हिदायत है | तौरैत , ज़ुबूर ,इंजील के हाफिज केवल नबी होते थे लेकिन कुरान के हाफिज उम्मती भी हैं | हर शहर और कस्बे में कुरान के हाफिज मौजूद हैं | इस लिए कि कुरान की हिफाज़त की ज़िम्मेदारी अल्लाह पाक के जिम्मे करम पर है | अल्लाह तआला खुद ही मुहाफ़िज़े कुरान है | यह बयान मौलाना मो. हाशिम अशरफ़ी राष्ट्रिय अध्यक्ष आल इंडिया ग़रीब नवाज़ कौन्सिल ने जश्ने अजमते कुरान मस्जिद हसन हुसैन डबल स्टोरी संगावा कालोनी में किया | श्री अशरफ़ी ने कहा कि दुनिया का निज़ामे बातिल कुरान के निजामे हक्कानियत से बौखला गया है इस लिए कुरान के खिलाफ नित नए मसायल पैदा किये जाते हैं और कुरान कि आयतों को बदलने की बात की जाती है | जो सरासर ग़लत और बे बुनयाद है | कुरान दुनिया में इसलिए नहीं आया कि कोई कुरान में मुदाखलत करे बल्कि कुरान पूरे समाज को बदलने आया है |यहाँ तक कि कुरान ने हजरते उमर इब्न खत्ताब को बदल कर साहबे ईमान कर दिया | १४ सौ सालों से कुरान दुनिया में पढ़ा जा रहा है आज भी हम भारत समेत पूरी दुनिया को कुरान पढ़ने की दावत पेश करते हैंकि कुरान पढ़ कर दुनिया और आखिरत की भलाई हासिल करें | वाजेह हो कि हाफिज अली असगर गजाली अशरफ़ी ने कुरान पाक का दौर मुकम्मल किया | इस से पूर्व जश्न का आरंभ तिलावते कुराने पाक से मौलाना मो. सुहैब मिस्बाही ने किया | संचालन हाफिज मो. अरशद अशरफ़ी ने किया |कारी मो. अहमद अशरफ़ी ,मौलाना खुर्शीद रजा ,मौलाना खालिद ने नातें पढ़ीं इस अवसर पर प्रमुख रूप से मो. इदरीस , मौलाना मुइनुद्दीन ,हाफिज मिन्हाजुद्दीन ,शहज़ादे भाई ,मो. युसूफ ,मो. असलम .शेर खान ,अंसार ,समीउल्लाह ,रईस ,शादाब मो.दानिश अशरफ़ी ,मो.हसन शिबली उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *