समाचार

कांग्रेस का मुख्यालय खाली करने पर विचार कर रही मोदी हुकूमत

कांग्रेस का मुख्यालय खाली करने पर विचार कर रही मोदी हुकूमत
नई दिल्ली। केंद्र सरकार कांग्रेस को राष्ट्रीय राजधानी के 24, अकबर रोड और लुटियन जोन के तीन अन्य बंगलों को खाली करने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। 24, अकबर रोड कांग्रेस का मुख्यालय है। यहां कांग्रेस का मुख्यालय 1976 से है। इस प्रस्ताव में कांग्रेस से इन प्रॉपर्टीज के लिए जून 2013 से मार्केट रेट पर रेंट लेने की बात भी कही गई है। दो साल पहले मोदी सरकार ने इन बंगलों को खाली करने का नोटिस कांग्रेस को भेजा था क्योंकि लीज खत्म हो गई थी। शहरी विकास मंत्रालय के तहत आने वाला डायरेक्टरेट आॅफ स्टेट्स कांग्रेस से बकाया वसूली के लिए नया नोटिस भेजने की योजना बना रहा है।
एक अधिकारी ने बताया कि डायरेक्टरेट ने इस संबंध में जनवरी 2015 में कांग्रेस को नोटिस दिया था। उन्होंने बताया कि डायरेक्टरेट ने 26 अकबर रोड, 5 रायसीना रोड और उ-कक/109 चाणक्यपुरी के बंगलों के मद में बकाया का एक अनुमान तैयार कर लिया है। 24 और 26 अकबर रोड के बंगले टाइप श्ककक कैटेगरी के हैं, वहीं दो अन्य टाइप श्क बंगले हैं। कांग्रेस को पार्टी आॅफिस की बिल्डिंग बनाने के लिए 9-ए राउज एवेन्यू में जमीन आवंटित की गई थी। राजनीतिक दलों को जमीन आवंटन की सरकारी नीति के तहत आॅफिस बनाने के लिए आवंटन के बाद तीन साल का वक्त मिलता है। लिहाजा कांग्रेस को जो चार बंगले लीज पर दिए गए थे, उन्हें उसे जून 2013 में खाली करना था।
संपर्क किए जाने पर कांग्रेस के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा ने कहो ह्यपार्टी आॅफिस बनाने के लिए हमने 2018 तक का एक्सटेंशन हासिल किया है। हम उतना रेंट चुका रहे हैं, जितना जरूरी है।ह्ण वहीं, शहरी विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने इस दावे को खारिज किया। उन्होंने कहा, ह्यउन्होंने बिल्डिंग प्लान की मंजूरी के आधार पर तीन साल का एक्सटेंशन मांगा था। उन्हें एक्सटेंशन नहीं दिया गया था।ह्ण उन्होंने कहा कि कांग्रेस को नोटिस दिया जा चुका है कि वह तीन साल की अवधि पार कर चुकी है और उसे ब्याज के साथ मार्केट रेंट चुकाना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *