समाचार

कथित आतंकी का बड़ा खुलासा, बंगाल का तारकेश्वर मंदिर था आईएस के निशाने पर

कोलकाता। पकड़े गए कथित आईएस एजेंट आसिफ अहमद से पूछताछ में एक बड़ा खुलासा किया है। उसके सुरक्षा एजेंसी को बताया कि आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के निशाने पर अब पश्चिम बंगाल आ गया है। एनआईए ने उसे आईएस के एजेंट होने के संदेह में दुगार्पुर के गोपालपुर से गिरफ्तार किया था। वह दुगार्पुर के राजेंद्र एकेडमी में इंजीनियरिंग का छात्र है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आईएस आतंकियों की मंशा पश्चिम बंगाल के हुगली जिला स्थित प्रसिद्ध तारकेश्वर मंदिर को उड़ाने की थी। राष्ट्रीय जांच एजेंसी का कहना है कि आसिफ से पूछताछ में कुछ चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। वह इंटरनेट के माध्यम से लगातार सीरिया में सक्रिय आईएस एजेंटों के संपर्क में था। इतना ही नहीं बर्द्धमान में बैठ कर वह अपने आकाओं के सहारे तारकेश्वर मंदिर को उड़ाने की साजिश रच रहा था। आसिफ ने इसके लिए तारकेश्वर मंदिर की रेकी की थी और मंदिर के प्रवेश द्वारा का नक्शा सीरिया में आईएस के सदस्य जरीर को मुहैया कराया था। राष्ट्रीय जांच एजेंसी का कहना है कि आसिफ ने स्वीकार किया है कि जरीर से उसकी मुलाकात हुई थी और उसने उसे एक मोबाइल भी दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *