शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

एसटीएफ यूपी पुलिस के एडिषनल एसपी डा त्रिवेणी सिंह को प्रोफेसरशिप की मानद उपाधि से सम्मानित

नोएडा (अनिल दुबे)। एक्जीक्यूटिव डेवलमेंट कार्यक्रम के तहत साइबर सुरक्षा पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन साइबर सुरक्षा, साइबर अपराध पर रोक एंव साइबर कानून के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने वाले व्यक्तियों को मंगलवार को एमिटी वश्वविद्यालय में विशेष कार्यक्रम का आयोजन करके प्रोफेसरशिप की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया। इस अवसर एमिटी बिजनेस स्कूल में एक्जीक्यूटिव डेवलमेंट कार्यक्रम के तहत साइबर सुरक्षा पर दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में आज उत्तर प्रदेश पुलिस के एसटीएफ के एडिशनल एसपी डा त्रिवेणी सिंह, इंडियन इन्फोसेक कंसोरियम के सीईओ श्री जितेन जैन, ए – सेट के रोबोटिक्स एंड रिसज़्च के प्रमुख श्री दिवाकर वैष्य को एमिटी विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर शक्ला, एमिटी सांइस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती एंव एमिटी विश्वविद्यालय के गु्रप प्रो वाइस चांसलर रियर एडमिरल रवि कोच्चर ने प्रोफेसरशिप की मानद उपाधि प्रदान की।
उत्तर प्रदेष पुलिस के एसटीएफ के एडिशनल एसपी डा त्रिवेणी सिंह ने धन्यवाद देते हुए कहा कि हमारे कैरियर में एमिटी द्वारा प्रदान की प्रोफेसरषिप की मानद उपाधि एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। उन्होनें छात्रों के सुखद भविश्य की कामना करते हुए एमिटी विश्वविद्यालय प्रबंधन को धन्यवाद दिया। इंडियन इन्फोसेक कंसोरियम के सीईओ जितेन जैन ने संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में उपलब्धियों को हासिल करने के लिए जीवन को गती प्रदान करें। हम एमिटी के साथ साइबर सुरक्षा के विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर रहे और भविष्य मे हमारा सहयोग जारी रहेगा। एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चैहान के इस राष्ट्र निर्माण यज्ञ में हमारी भी यह छोटी आहुति होगी। ए – सेट के रोबोटिक्स एंड रिसज़्च के प्रमुख दिवाकर वैश्य ने धन्यवाद देते हुए कहा कि कुछ साल पहले मै भी आप की तरह छात्र था और एक उंचे मुकाम पर आने का ध्यये सदैा मेरे मन में था। उन्होनें छात्रों को सलाह देते हुए कहा कि हमेषा सही उदेदश्य और सही व्यक्तियों का साथ रखें जो आपके जीवन के ध्येय को पूर्ण करने में सहायक होगा। एमिटी विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर शुक्ला ने संबोधित करते हुए कहा कि साइबर सुरक्षा बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है और डिजिटलाइेजश के इस दौर में हम सभी को इसकी जानकारी होना आवश्यक है। आप सभी साइबर सुरक्षा के क्षेत्र मे बेहतरीन कार्य कर रहे है जिसका लाभ समाज एंव देश के हर व्यक्ति का हो रहा है। एमिटी सांइस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती ने अतिथियों को संबोधित करते हुए कहा कि जैसे जैसे हम डिजिटलाइजेशन की ओर अग्रसर हो रहे है वैसे वैसे साइबर खतरे भी बढ़े है इसलिए साइबर सुरक्षा, साइबर अपराध पर लगाम एंव साइबर कानून की वतज़्मान में मांग बढ़ी है। एमिटी सदैव राष्ट्र हित एंव समाज हित में कायज़् करने वालों को सम्मानित करता है इसी कारण आज साइबर सुरक्षा एंव साइबर कानून के क्षेत्र मे कार्य कर रहे दिग्गजों को सम्मानित किया जा रहा है जो अपने अनुभवों द्वारा हमारे छात्रों का मार्गदर्शन करेगें।
़ सम्मान समारोह में पर फैकल्टी मैनेजमेंट स्टडीज के डीन एंव एमिटी बिजनेस स्कूल के निदेशक डा संजीव बंसल एमिटी विश्वविद्यालय के आईटी विभाग के उपाध्यक्ष डा जे एस सोढ़ी, एमिटी इंस्टीटयूट ऑफ इन्फर्मोशन एंड टेक्नोलॉजी के निदेशक डा सुनिल खत्री आदि उपस्थित थे।
एमिटी बिजनेस स्कूल में एक्जीक्यूटिव डेवलमेंट कार्यक्रम के तहत साइबर सुरक्षा पर दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन एफ थ्री सभागार, एमिटी विश्वविद्यालय में किया गया। इस अवसर सैकड़ो छात्रों ने इस प्रशिक्षण कायज़्कम मे हिस्सा लिया जिन्हे साइबर क्षेत्र के दिग्गजो ने जानकारी प्रदान की। कार्यक्रम के अंतज़्गत डिजिटल टेक्नोलॉजी इंस्टीटयूट के सीईओ अनूप प्रसाद ने संबोधित करते हुए कहा कि भारत डिजिटल इंडिया बन रहा है इसलिए आपको डिजिटल माकेज़्टिंग की शक्ती को समझना होगा। आज कोइ भी संस्थान बिना इंटरनेट के नही चल सकता और डिजिटल माकेज़्टिंग एंव पांरपरिक मार्केटिंग के मध्य के अंतर को जानना आवश्यक है। उन्होनें छात्रों को डिजिटल मार्केटिंग के महत्व, मार्केटिंग में साइबर सुरक्षा जैसे सुरक्षित डाटा एंव सूचना, उत्पादों की जानकारी आदि के बारे मे विस्तार से जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर मैकेन्से के स्पेशलिस्ट साइबर टेक्नोलॉजी के श्री सुनित पाहवा ने छात्रों को जानकारी प्रदान की।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *