शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

एमिटी विश्वविद्यालय में रीसेंट ट्रेंड्स इन कंप्यूटर साइंस विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित

एमिटी विश्वविद्यालय में रीसेंट ट्रेंड्स इन कंप्यूटर साइंस विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित

ग्वालियर। एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश में एमिटी स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन विभाग द्वारा 13 अप्रैल 2018 को ऑन रीसेंट ट्रेंड्स इन कंप्यूटर साइंस विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस राष्ट्रीय संगोष्ठी के मुख्य अतिथि वीएनआईटी नागपुर के डायरेक्टर प्रोफेसर एन एस चौधरी थे। संगोष्ठी के शुभारंभ के अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय के कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा एवीएसएम;रिटायर्डद्ध ने बताया कि वर्तमान समय में मानव जीवन इन्टरनेट पर आधारित है। उन्होंने आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस एवं सायबर सिक्योरिटी के विस्तार पर अपने विचार व्यक्त किए।उन्होंने प्रतिभागियों को नेटवर्क सिग्नल एवं इंटरनेट के महत्त्व से अवगत कराया।

उद्घाटन सत्र के मुख्य अतिथि वीएनआईटी नागपुर के डायरेक्टर प्रोफेसर एनएस चौधरी ने कंप्यूटर साइंस और सूचना प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों जैसे ई गवर्नेंसए साइबरए साइबर सुरक्षाए साइबर लॉ आदि के विषय में श्रोताओं को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि पी एण्ड एन.पी. हार्डनेस प्रोबलम्स को सोब्लब करने के नये एप्रोच को डिस्कर्स किया। कम्प्यूटेषन डिफीकल्ट प्रोबलम्स सोल्ब करने की नई एप्रोच के बारे में बताया मषीन लर्निंग डीप लर्निग के बारे में बतायाउन्होंने गूगल और अन्य नेटवर्क साइटों का हवाला देते हुए कहा कि आज हम चौथे इंडस्ट्रियल रिवोल्यूशन की तरफ बढ़ रहे हैंए जिसमें पूरी तरह से बदलती तकनीक इंसानी युग को चुनौती देते हुए आगे बढ़ रही है। उन्होंने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर विस्तृत चर्चा की और जीपीएस एक्लाउड सहित कई नवीनतम तकनीक पर अपने विचार व्यक्त किए ।सत्र के मुख्य वक्ता जेएनयू नई दिल्ली स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग के डीन प्रोफेसर आरके अग्रवाल ने डाटा सेंसिंगए प्रोसेसिंग और मशीन लर्निंग के जरिए ऑटोमेटिड डिसिजन मेकिंग के बारे में बताते हुए स्टूडेंट्स को फेस रिकग्निशनए ऑब्जेक्ट डिटेक्शनए इमोशन रिकग्निशनए ब्रेन मशीन इंटरफेस के बारे में विस्तार से जानकारी दी और पर अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर ई.स्मारिका का विमोचन भी किया गया तथा मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया।.द्वितीय सत्र का प्रारंभ आईआईआईटीडीएम जबलपुर के डॉण् एमडी बंसल द्वारा किया गया। उन्होंने कंप्यूटर आधारित वायरलेस सेन्सर नेटवर्क पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया। उन्होंने स्टूडेंट्स को बिग डाटाए प्रोग्रामिंग लेंग्वेजए डाटाबेसए क्लाउड कंप्यूटिंग जैसे विषयों के बारे में जानकारी दी।सत्र के दौरान अटल बिहारी वाजपेई ट्रिपल आईटीएम के सूचना एवं संचार विभाग के प्रोफेसर डॉक्टर डॉण्नितेश कुमार ने भविष्य में इंटरनेट सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार पर अपने विचार व्यक्त किए। इस दौरान विभिन्न संस्थानों के सभी शोधार्थियों शिक्षकों तथा इंडस्ट्री एक्सपर्ट ने अपने शोध पत्र प्रस्तुत किए।संगोष्ठी के संयोजक एवं विभाग प्रमुख डॉण्हेमंत सोनी ने बताया कि इस संगोष्ठी में देश के विभिन्न राज्यों से शोधार्थी शामिल हुए तथा 100 से अधिक शोध पत्र प्राप्त हुए जिसमें से 63 शोध पत्रों को अंतिम रूप से चयनित किया गया।संगोष्ठी के समापन सत्र में देवी अहिल्या विश्वविद्यालय स्कूल ऑफ़ कंप्यूटर साइंस एंड आईटी के हेड प्रोफेसर डॉण्संजय तनवानी ने ग्राफ डेटावेसः एन.ई.ओ.4-जे तकनीक के बारे में जानकारी दी।आईटी सेक्टर में 2017.18 में आए नए डेटा ट्रेंड्स के बारे में बात की।कार्यक्रम के अंत में एमिटी विश्वविद्यालय के प्रो.वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉक्टर एमपी कौशिक द्वारा कनक्लुडिंग रिमार्क्स व्यक्त किए गए तथा एमिटी के मयंक शर्मा एण्ड ग्रुफ एमिटी यूनिवर्सिटी ग्वालियर को बेस्ट पोस्टर प्रेजेंटेशन तथा बेस्ट पेपर प्रेजेंटेशन के लिए करूणेन्द्र शर्मा आई.पी.एस. कॉलेज ग्वालियर को सम्मानित किया गया  और अंत में सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर उनका आभार व्यक्त किया गया।संगोष्ठी के समापन सत्र में एसेट के डायरेक्टर मेजर जनरल ;डॉण्द्धएससी जैन ने संस्थान के कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा एवीएसएमए प्रो.वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉण्एमपी कौशिकए रजिस्ट्रार राजेश जैन सहित सभी शिक्षकों एप्रशासनिक अधिकारियों एवं शिक्षकत्तेर कर्मचारियों का सतत सहभागिता के लिए आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर एमिटीविश्विद्यालय के वाइस चांसलर लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा एवीएसएम ;रिटायर्डद्धए प्रो.वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉण्एमपी कौशिकए रजिस्ट्रार राजेश जैनए संगोष्ठी के सचिव प्रोफेसर डॉण्हेमंत सोनी सहित सभी विभागाध्यक्ष प्राध्यापकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *