शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

एमिटी विश्वविद्यालय में 13 वें एमिटी ग्लोबल मानवसंसाधन सम्मेलन – 2017 का आयोजन

एमिटी विश्वविद्यालय में 13 वें एमिटी ग्लोबल मानवसंसाधन सम्मेलन – 2017 का आयोजन
नोएडा (अनिल दुबे)। मानव संसाधन के दिग्गजों को एमिटी एचआर एक्सलेंस अर्वाड से किया सम्मानित एमिटी इंटरनेशनल बिजनेस स्कूल द्वारा सीईओ फोरम के अंर्तगत  4आर – रिथिंकिग, रिक्रियेटिंग,  रिइंजिनियरिंग  एंव  रिइर्न्फोसिंग  एचआर  प्रैक्टिसेस  फॉर  न्यू  जेनेरेशन आॅरगनाइजेशन विषय पर 13 वें एमिटी मानव संसाधन सम्मेलन का आयोजन आज आई टू मूर्ट कोर्ट सभागार, एमिटी विश्वविद्यालय मे किया गया। इस सम्मेलन का शुभारंभ रिपब्लिक टीवी के रक्षा एंव रणनीति सलाहकार, मेजर गौरव आर्या, पोलोरिस के एमडी एंव चेयरमैन पंकज दूबे, सैंमसंग के मानव संसाधन निदेशक अमुल्य शह, रिपब्लिक आॅफ बुलगेरिया दूतावास के राजदूत पेटको डायेकोव, बहरीन के अहलिया विश्वविद्यालय के अध्यक्ष डा मंसूर अहमद हसन हुसैन अलाली, गिनी फिलामेंट के वाइस प्रेसीडेंट – एचआर भूपेंद्र कौेशल, एक्सपेरिस – मैनपावर गु्रप इंडिया के अध्यक्ष मनमीत सिंह एंव एमिटी विश्वविद्यालय के गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह ने पांरपरिक दीप जलाकर किया। एमिटी ग्लोबल मानव संसाधन सम्मेलन के अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय के गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह द्वारा रिपब्लिक टीवी के रक्षा एंव रणनीति सलाहकार, मेजर गौरव आर्या को  एमिटी एचआर एक्सलेंस अवार्ड से, पोलोरिस के एमडी एंव चेयरमैन पंकज दूबे  को  एमिटी  एचआर  एक्सलेंस  अर्वाड  फॉर  बेस्ट  सोषयो  इकोनॉमिक  रिसपॉनसिव आॅरगनाइजेषन के अर्वाड से, सैंमसंग के मानव संसाधन निदेशक अमुल्य षाह को एमिटी एचआर एक्सलेंस अर्वाड फॉर बेस्ट लीडरषिप डेवलपमेंट अर्वाड से, एक्सपेरिस – मैनपावर गु्रप इंडिया के अध्यक्ष मनमीत सिंह को एमिटी एचआर एक्सलेंस अर्वाड फॉर बेस्ट ट्रेनिंग  प्रैक्टिसेस अवार्ड से गिनी फिलामेंट के वाइस प्रेसीडेंट – एचआर श्री भूपेंद्र कौषल को एमिटी  एचआर एक्सलेंस अर्वाड फॉर  बेस्ट एंपलाई रिलेषन एंड पीपल मैनेजमेंट एंव बहरीन के अहलिया विश्वविद्यालय के अध्यक्ष डा मंसूर अहमद हसन हुसैन अलाली को एमिटी एचआर एक्सलेंस अर्वाड फॉर बेस्ट एजुकेषनल लीडर शिप इन द रिजन के अर्वाड से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर रिपब्लिक आॅफ बुलगेरिया दूतावास के राजदूत महामहिम पेटको डायेकोव को गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया।   रिपब्लिक टीवी के रक्षा एंव रणनिती सलाहकार, मेजर गौरव आर्या ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि देष सेवा के लिए किसी भी वर्दी की आवष्यकता नही है आप बिना वर्दी के देष सेवा कर सकते है। देष की सारी जिम्मेदारी सैन्य सेवाओं की ही नही है बल्कि अपनी जिम्मेदारी को समझें। किसी भी पार्टी या समूह का झंडा न उठायें सिर्फ एक ध्वज सर्वोपरी है वो है राष्ट्रध्वज। कई बार षांती स्थापित करने के लिए भी जंग जरूरी होती है।  हमें षांती चाहिए लेकिन अपना आत्मसम्मान गिरा कर नही। हम अपने देष का आत्मगौरव उंचा रखकर षांती चाहते है। मेजर आर्या ने कहा कि चीन के पास अच्छी अर्थव्यवस्था, उद्योग  एंव सैन्य षक्ती सभी कुछ है पर उसे सोषियल नेटवर्किग साइसट्स जैसे फेसबुक, इस्टाग्राम आदि से डर लगता है। उन्होने आतंकवाद एंव नक्सलवाद पर भी अपने विचार व्यक्त किये। पोलोरिस के एमडी एंव चेयरमैन  पंकज दूबे ने छात्रों को संबोधित करते हुए कि आपको सबसे पहले अपने कार्य पर कैसे ध्यान केन्द्रीत करे यह सीखना होगा। अगर आप  किसी के अंदर सिर्फ दोष को ढूढंगे तो आप उससे कुछ नही सीख पायेगे। अपनी अंदर की उर्जा को समझें और उसका उपयोग सकारात्मक क्षेत्र में करें। श्री दूबे ने छात्रों को सलाह देते हुए कहा कि स्वंय का आदर करें और अन्य सभी का आदर करें। उन्होनें कहा कि जीवन में सभी महिलाओं का सम्मान करें। हर व्यक्ति के कुछ सपने होते है और उन सपनों को पूरा करने का वक्त निर्धारित करें। आपकी सोच, कथनी एंव करनी मे अंतर नही होना चाहिए। श्री दूबे ने कहा कि भविष्य में आप बड़ी कंपनियों के मानव संसाधन विभाग मे व्यक्तियों का  चयन करेगें इसलिए आपको को व्यक्ति की पहचान करना आना चाहिए। सैंमसंग के मानव संसाधन निदेषक श्री अमुल्य षाह ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि मानव संसाधन विभाग बहुत अच्छा कार्य नही है आपकों एक पद के लिए कई लोगों से मिलना पड़ता है और उसमें से एक व्यक्ति का चयन करना पड़ता है। अगर आप मानव  संसाधन के क्षेत्र मे है तो आपको संवेदनषील होना पड़ता है। श्री षाह ने कहा कि मानव  संसाधन विभाग को कई बार अपने मानव संसाधन निती एंव प्रक्रियाओं मे बदलाव करना  पड़ता है। मस्तिष्क में विचारों का परिवर्तन आवष्यक है तभी आप कुछ नयापन सोच पायेंगे और कर पायेंगे। उन्होनें कहा कि इस प्रकार के सम्मेलन छात्रों के लिए अत्यंत लाभप्रद होते  है और एमिटी के छात्रों का इसका लाभ अवष्य प्राप्त होगा। एमिटी विश्वविद्यालय के गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि किसी भी कंपनी के लिए मानव संसाधन विभाग सबसे महत्वपूर्ण होता है क्योकी यही संस्थान के लिए सही व्यक्तियों का चयन करता है। किसी भी देष का विकास बिना अकादमिक एंव उद्योगों के जुड़ाव बिना संभव नही है इसलिए एमिटी द्वारा आयोजित  इस प्रकार के सम्मेलनों के छात्रों को मानव संसाधन के विषेषज्ञों से मिलने का मौका मिलता है और हमें भी उद्योगों की अपेक्षाओं की जानकारी मिलती है जिससे छात्रों को उनके अनुरूप तैयार किया जाता है। यह सम्मेलन हम सभी को नये अनुभव प्रदान करेगा।  इस अवसर कई अन्य उद्योगों के प्रतिनिधियों ने अपने विचार रखे जिन्हे सम्मानित भी किया गया। इस अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय के षिक्षकगण एंव छात्रगण उपस्थित  थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *