एमिटी युनिवर्सिटी गुरूग्राम में हुआ फैशन डिजाईनिंग का राष्ट्रीय सम्मेलन

समेल्लन में देश भर से आए स्टाईलिस्ट ने लिया भाग
विद्यार्थियों ने किए सवाल जवाब
गुरूग्राम (प्रशान्त)। एमिटी युनिवर्सिटी गुरूग्राम में सोमवार को नेश्नल कांफ्रेंस ऑन फैशन बिजनेस 2017 ( फैशन व्यापार 2017 पर राष्ट्रीय सम्मेलन) का आयोजन किया गया। सम्मेलन में देश के नामचीन फैशन स्टाईलिस्टों ने भाग लिया।
एमिटी युनिवर्सिटी गुरूग्राम में हुए इस सम्मेलन का मकसद विद्यार्थियों को फैशन में हो रहे बदलाव और बदलते हुए फैशन के व्यापार के ऊपर बातचीत करना और नए ट्रेंड को कैसे अपनाया जाए था। इस सम्मेलन में विद्यार्थियों ने अपनी ड्रेस की पेशकश भी की। इस कांफ्रेंस को दो भागों (पैनलों) में बांटा गया। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना और कौशल एवं उद्ययमित्ता विकास मंत्रालय को ध्यान में रखते हुए पहले पैनल में नेश्नल कांफ्रेंस ऑन फैशन बिजनेस – कौशल एवं उद्यमित्ता विकास का प्रभाव विषय पर बातचीत की गई। और दुसरे पैनल में बदलती अर्थवयवस्था का फैशन बिजनेश पर प्रभाव विषय पर बातचीत की गई।
प्रो (डॉ) पी बी शर्मा ने कहा कि फैशन खुशियों का व्यापार है, खुशी बढऩे से व्यापार अच्छा होगा औऱ व्यापार अच्छा होने से देश की अर्थव्यवस्था अच्छी होगी।
डॉ तमन्ना चतुर्वेदी, इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ फॉरन ट्रेड ने कहा कि हिन्दुसतान यकीनन बहुत बड़ा देश है पर हमें अभी भी व्यापार के क्षेत्र में काफी मेहनत करनी है। चाईना को व्यापार की काफी समझ है वो बेचने वाले और खरीदने वालों की समझ रखते है। पर अब समय बदल रहा है, अब युवाओं को व्यापार की ज्यादा समझ है और हम धीरे धीरे आगे बढ़ रहे है।
इस सम्मेलन में प्रो (डॉ) पी बी शर्मा, वाईस चांसलर, एमिटी युनिवर्सिटी गुरूग्राम, डॉ तमन्ना चतुर्वेदी, पंकज कपूर, दीप्ती पंत, विकास भार्गव, डॉ भावना अधिकारी, डॉ रीना निगम, रिखिल नागपाल, डॉ विवेक बालयाण फैकल्टी स्टाफ औऱ सैकड़ों विद्यार्थी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *