शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

एमिटी में 20 वें राष्ट्रीय मैथमेटिक्स ओलंपियाड कार्यशाला का समापन

एमिटी में 20 वें राष्ट्रीय मैथमेटिक्स ओलंपियाड कार्यशाला का समापन

नोएडा। एमिटी इंस्टीटयूट फॉर कंपटिटिव एक्जामिनेशन द्वारा छात्रों की गणित विषय में रूचि बढ़ाने हेतु आयोजित 20 वें राष्ट्रीय मैथमेटिक्स ओलंपियाड कार्यशाला का आज आई टू ब्लाक सभागार में समापन हो गया। समापन सामरोह डिफेंस इंस्टीटयूट ऑफ साइकोलॉजिकल रिर्सच के निदेशक डा के रामाचंद्रन, पेलेट मैनुफैक्चरस एसोसिएशन ऑफ इंडिया के सेक्रेटरी जनरल डा दीपक भटनागर, एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान, एमिटी इंटरनेशनल स्कूल की चेयरपरसन डा (श्रीमती) अमिता चौहान एंव एमिटी इंस्टीटयूट फॉर कंपटिटिव एक्जामिनेशन की निदेशिका डा मीनाक्षी रावल ने छात्रों को सर्टिफिकेट प्रदान किया। गया। इस 19 मई से 25 मई तक संचालित इस प्रतियोगिता में दिल्ली एनसीआर के विभिन्न विद्यालयो जैसे मायो इंटरनेशनल, बाल भारती पब्लिक स्कूल, डीएवी पब्लिक स्कूल, डीपीएस आर के पुरम, एमिटी इंटरनेशनल स्कूल के लगभग 200 छात्रों ने हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम में श्री अमोल चौहान, एमिटी गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह एंव एमिटी सांइस टेक्नोलॉजी इनोवेषन फांउडेषन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती भी उपस्थित थे। पुरस्कार समारोह में केंद्रीय वाणिज्य एंव उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने छात्रों को विडियों संदेश के जरीए जीवन में मेहनत करने एंव मुश्किलों से ना घबराने का संदेष देते हुए उनके उन्नत भविष्य की कामना भी की । डिफेंस इंस्टीटयूट ऑफ साइकोलॉजिकल रिर्सच के निदेशक डा के रामाचंद्रन ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में शिक्षकों एंव अभिभावकों का स्थान सबसे अधिक महत्वपूर्ण होता है। मैं सदैव अपने शिक्षकों का धन्यवाद देता हूं जिनके कारण आज मै इस मुकाम को हासिल कर पाया हूं। कई बार कुछ शिक्षकों के सख्त रवैये से हम उनके पढ़ाये जाने वाले विषय से कटने लगते है जिससे वो विषय हमें बोर लगता है। ऐसे नकारात्मक विचारों से दूर रहे, हर विषय को मन लगा कर पढ़े। जीवन में विकास हेतु गणित बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है। आज यहां सभागार में बैठे सैकड़ों छात्रों के चेहरे में प्रख्यात विद्वान रामानुजन का चेहरा दिखता है इसलिए आप भी लोगों की समस्या के निवारण हेतु अपने ज्ञान का उपयोग करे। उन्होनें शिक्षकों से कहा कि छात्रों मे उत्साह एंव विषय के प्रति रूचि बढ़ाने का दायित्व आप पर है। पेलेट मैनुफैक्चरस एसोसिएशन ऑफ इंडिया के सेक्रेटरी जनरल डा दीपक भटनागर ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि छात्रों को देखकर मुझे अपने स्कूल के दिन याद आ रहे है। अगर कोई मेरी एक इच्छा पूर्ण कर देता तो मै फिर से अपने छात्र जीवन में लौटने की इच्छा प्रकट करता। डा भटनागर ने कहा कि भारत के विकास में तीन लोगों की भूमिका अति महत्वपूर्ण है और वे इस वक्त सभागार में उपस्थित है प्रथम अभिभावक, द्वितीय शिक्षक एंव तृतीय छात्र है। गणित एक बेहतरीन विषय है जितना इसमें रमतें जायेगें उतना अच्छा लगेगा। एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान ने अतिथियों को संबोधित करते हुए कहा कि एमिटी में हम छात्रों को सदैव कक्षा ज्ञान के अलावा कुछ अलग नया सीखने के लिए प्रेरित करते है। डा चौहान ने कहा कि किसी भी देश के विकास में शिक्षकों की भूमिका सबसे अधिक महत्वपूर्ण है क्योकी यही देश के आनेवाले भविष्य का निर्माण करते है।एमिटी इंटरनेशनल स्कूल की चेयरपरसन डा (श्रीमती) अमिता चौहान ने हमारा उदेदश्य छात्रों को प्रसन्नतचित्त एंव अच्छा इंसान बनाना है जो अपने समाज एंव देश के विकास में सहायक हो। इस कार्यषाला के जरीए हमे छात्रों हेतु गणित को सरलतम रूप में समझाने का प्रयास करते है जिससे छात्र कठिन विषयों से दूर ना भागे बल्कि उनका आनंद लेकर पढ़े।मायो इंटरनेशनल स्कूल की कक्षा 12 वीं की छात्रा कृतिका राज ने अपने अनुभव को साझा करते हुए कहा कि इस कार्यशाला में मैं अकेले ही आई थी लेकिन आज मेरे कई मित्र बन गये है। शिक्षकों ने बहुत सहायता की और मैने भी यहां बहुत कुछ सीखा ।इस अवसर पर एमिटी इंटरनेशनल स्कूल की प्रधानाचार्या एंव शिक्षिकायें भी उपस्थित थी।

——————————————————————————

एमिटी विश्वविद्यालय में नेशनल टैलेंट सर्च एक्जामिनेशन में विजयी छात्रों को किया पुरस्कृत

एमिटी सेंटर फॉर सांइस ओलंपियाड द्वारा एनसीआरटी द्वारा आयोजित नेशनल टैलेंट सर्च एक्जामिनेशन के प्रथम स्टेज पास करने वाले एंव डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन दिल्ली द्वारा आयोजित जुनियर साइंस टैलेंट सर्च एक्जामिनेशन में विजयी होने वाले विभिन्न एमिटी इंटरनेशनल स्कूल के छात्रों सहित एमिटी द्वारा आयोजित ग्लोबल टैलेंट सर्च एक्जामिनेशन में विजयी छात्रों हेतु आज पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन आई टू ब्लाक सभागार में किया गया। इस अवसर पर विज्ञान एंव तकनीकी विभाग की सलाहकार एंव प्रमुख (इंटरनेशनल कोआपरेशन) डा साधना रेलिया, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद की वैज्ञानिक डा साधना श्रीवास्तवा, एमिटी सांइस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती एंव एमिटी इंस्टीटयूट फॉर कंपटिटिव एक्जामिनेशन की निदेशिका डा मीनाक्षी रावल ने छात्रों को पुरस्कृत किया।

विज्ञान एंव तकनीकी विभाग की सलाहकार एंव प्रमुख (इंटरनेशनल कोअॅपरेशन) डा साधना रेलिया ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि इस प्रतियोगिता में विजयी छात्रों को प्रसन्न देखकर हमें भी प्रसन्नता का अनुभव होता है। आपके सामने उपरोक्त प्रतियोगिताओं के अलावा कई ऐसे और भी अवसर है जहां आप अपनी बुद्धिमता का आकंलन कर सकते है। डा रेलिया ने कहा कि छात्रों को विज्ञान एंव तकनीकी के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा कई प्रतियोगिताओं, इंर्टनशिप आदि का संचालन किया जा रहा है। आ अपनी रूचि के अनुसार अपने आस पास के क्षेत्र में विज्ञान एंव तकनीकी के क्षेत्र में कार्य कर रहे उद्यमों या संस्थान में कुछ समय की सीख सकते है। आज मानव मस्तिक्त का मुकाबला रोबोट से है इसलिए विज्ञान एंव तकनीकी के क्षेत्र हमें अधिक से अधिक सीखना होगा और कक्षा ज्ञान के अलावा षोध आदि की जानकारी रखनी होगी। एमिटी द्वारा आयोजित इस प्रकार के कार्यक्रम छात्रों का उत्साहवर्धन करते है।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद की वैज्ञानिक डा साधना श्रीवास्तवा ने युवा वैज्ञानिक हमारे युवा भारत का भविष्य है। इन प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेना दर्शता है कि आप विज्ञान एंव तकनीकी में कितनी रूचि है। डा श्रीवास्तवा ने कहा कि मुझे छात्रों के अंदर का उत्साह, जोष एंव चेहरे की चमक दिख रही है जिसमें मै देश के विकास को देख रही हूं। उन्होनें अभिभावकों से कहा कि आपका लालन पालन एंव एमिटी जैसे संस्थान के षिक्षकों का मार्गदर्षन ये छात्रों अवष्य सफल होगें और जीवन में ऊंचा मुकाम हासिल करेगें। एमिटी इंस्टीटयूट फॉर कंपटिटिव एक्जामिनेशन की निदेशिका डा मीनाक्षी रावल  ने जानकारी देते हुए बताया कि इस पुरस्कार वितरण समारोह में एनसीआरटी द्वारा आयोजित नेषनल टैलेंट सर्च एक्जामिनेशन में प्रथम स्टेज क्लियर करने विभिन्न एमिटी इंटरनेशनल स्कूल के 17 छात्रों एंव डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन दिल्ली द्वारा आयोजित जुनियर साइंस टैलेंट सर्च एक्जामिनेशन में विजयी एमिटी इंटरनेशनल स्कूल के 04 छात्रों को पुरस्कृत किया गया। इसके अतिरिक्त एमिटी द्वारा आयोजित ग्लोबल टैलेंट सर्च एक्जामिनेषन में देश के विभिन्न विद्यालयों के छात्रों ने हिस्सा लिया जिसमें विजयी एमिटी इंटरनेषनल स्कूल के 61 छात्रों को पुरस्कृत किया गया । इस अवसर पर एमिटी इंस्टीटयूट फॉर कंपटिटिव एक्जामिनेषन के षिक्षकगण एंव छात्रों के अभिभावकगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *