शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

एमिटी में स्वरोजगार के लिए उद्यमिता कौशल विकास शिविर आयोजित


ग्वालियर (वीटीएन)। देश के शीर्ष उच्च शिक्षण संस्थानों में शुमार एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश और विज्ञान एवं तकनीकी विभाग भारत सरकार द्वारा प्रायोजित तीन दिवसीय उद्यमिता कौशल विकास शिविर के अवसर पर एमिटी के वाइस चांसलर लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा एवीएसएम (रिटायर्ड) ने बीटेक विद्यार्थियों से उद्यमी को परिभाषित करते हुए उद्यमिता की सफलता के मंत्र साझा करते हुए बताया कि उद्यमिता कौशल विकास आज जाने-पहचाने शब्द बन गए हैं। उद्यमिता में पैसे से ज्यादा मानव अनुप्रेरण की आवश्यकता होती है। वहीँ एक सफल उद्यमी के रूप में स्थापित होने के लिए लक्ष्य का निर्धारण जरूरी होता है।
इस दौरान उद्यमिता कौशल विकास शिविर में एबीएस के डायरेक्टर डॉ.अनिल वशिष्ठ ने बताया कि एमिटी विश्वविद्यालय में आयोजित इस शिविर का उद्देश्य उद्योग केन्द्र द्वारा संचालित स्वरोजगार मूलक योजनाओं से लाभान्वित कराना हैं, जिसमें स्वयं के लघु उद्योग, सेवा क्षेत्र की इकाइयां स्थापित कर सकते हैं। शिविर में जिला उद्योग केंद्र ,एमएसएमई, बैंकिंग सेक्टर व विभिन्न संस्थानों के मास्टर ट्रेनर्स ने उद्यमिता विकास, उद्यम चयन व रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया, बैंकिंग प्रक्रिया, मार्केट सर्वे, मार्जिन मनी सहायता, ब्याज अनुदान सहित आदि की विस्तृत जानकारी प्रदान की । शिविर के कोआॅर्डिनेटर डॉ देवेन्द्र कुमार पाण्डेय और पंकज मिश्रा ने बताया कि तीन दिवसीय उद्यमिता जागरूकता कौशल विकास शिविर में एमिटी विश्वविद्यालय के 125 विद्यार्थियों ने सफलतापूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त किया और इस दौरान सभी प्रशिक्षणार्थियों को जिले में संचालित औद्यौगिक ईकाइयों का भ्रमण भी कराया गया और प्रमाण-पत्र प्रदान किये गए। समापन के अवसर पर एमिटी के प्रो-वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉ एमपी कौशिक, रजिस्ट्रार राजेश जैन, मेजर जनरल एससी जैन सहित सभी प्राध्यापकगण व विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *