समाचार

एमिटी में व्यवसाय के रूप में ‘ऊर्जा प्रबंधन’ पर व्याख्यान का अयोजन

एमिटी में व्यवसाय के रूप में ‘ऊर्जा प्रबंधन’ पर व्याख्यान का अयोजन
नोएडा (अकांक्षा)। डोमिनियन आॅफ इंजिनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी एमिटी विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश, एमिटी स्कूल आॅफ इंजिनियरिंग एमिटी स्टूडन्ट चेपटर एंव एईई दिल्ली द्वारा आज व्यवसाय के रूप में ?ऊर्जा प्रबंधन? पर व्याख्यान का अयोजन एमिटी विश्वविद्यालय  नोएडा सैक्टर 125 में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ एईई दिल्ली चेपटर (एसोसिएशन आॅफ एनर्जी इंजिनियरंस ) के अध्यक्ष श्री दलीप सिंह, एईई एश्यिा (एसोसिएशन आॅफ एनर्जी इंजिनियरंस ) के एडिषनल निदेशक डा बी के चैधरी द्वारा किया गई। सभी अतिथियों का स्वागत एमिटी के इंजीनियरिंग एंड टैक्नोलॉजी के डिप्टी डीन डा के एम सोनी ने किया।
एईई एष्यिा (एसोसिएषन आॅफ एनर्जी इंजिनियरंस ) के एडिशनल निदेशक डा बी के चैधरी ने संबोधित करते हुए कहा कि ऊर्जा प्रबंधन को स्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद बहुत महत्व प्राप्त होता है। आप सभी ने इस क्षेत्र का चुनाव कर यह साबित किया है कि आप कुछ अलग करने की चाहे रखते है। आज के समय में ऊर्जा का बहुत दुरूपयोग होता है इसके अलावा उसका इस्तेमाल जरूरत से अधिक किया जाता है पर अब हमें इसको रोकना होगा क्योकि यह वतातवरण पर असर डालता है। आने वाले सयम में अगर ऊर्जा को सही प्रकार से बचाने में सफलता मिलती है तो यह हमारे भारत देष के लिए बहुत लाभदायक होगा। ऊर्जा के बचाव से केवल धन की बचत के साथ साथ वतातवरण पर भी अच्छा प्रभाव पढ़ेगा। उद्योग इन दिनों ऊर्जा के बचाव पर खास ध्यान दे रहे है वह ऐसे उपकरण बनाने की कोशिश कर रहे है जिससे ऊर्जा की बचात हो सके। जो भी करे ईमानदारी से करे और खुद को दुुनिया के सामने सिद्ध करे। हमेशा सीखते रहे वहीं आपको हमेषा अपडेट रखेगा जो कि केवल ऊर्जा के क्षेत्र के लिए ही नहीं सभी क्षेत्रों के लिए लाभदायक होगा।
एमिटी के इंजीनियरिंग एंड टैक्नोलॉजी के डिप्टी डीन डा के एम सोनी ने कहा कि ऊर्जा एंव संसाधन दोनो ही समय के साथ समाप्त हो रहे है ऐसे में जरूरत है कि इन मुद्दों पर खास ध्यान दिया जाना चाहिए। डा सोनी ने ययह भी कहा कि वह आशा करते है इस मंच के माध्यम से आप सभी को बहुत कुछ सीखने को मिला होगा जोकि आने वाले समस में आपके लिए बहुत काम आऐगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *