टूरिज़्म समाचार

एमिटी में मनाया गया विश्व पर्यटन दिवस 2016

2
नोएडा। विश्व पर्यटन दिवस 2016 के अवसर पर आज एमिटी इंस्टीट्यूट आॅफ टैज्वेल एंड टूरिज्म द्वारा अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन एमिटी विश्वविद्यालय सैक्टर 125 नोएडा में किया गया। सम्मेलन का विषय डब्लूटीओ द्वारा चुनने गए विषय – सभी लोगों के लिए पर्यटन एंव अतिथि सत्कार की सेवा उपलब्धता को प्रोत्साहन- वैष्विक एंव भारतीय दृष्टिकोण था। इस कार्यक्रम की शुभारंभ टीयूआई समूह के पेसिफिक वर्ल्ड के इंडिया एंव इडियन आषियन के क्षेत्रीय प्रमुख श्री नवीन रीजवी, फ्लाई दुबई एयर के कंट्री हेड श्री प्राण डासान, ली ट्रैवल वर्ल्ड एंड यूनी ग्लोब (इंडिया) के प्रबंध निदेशक श्री संजय डांग, उज्बेकिस्तान दूतावास विभाग के व्यापार एंव आर्थिक विभाग के परामर्षदाता श्री अवाज डी कोडजीक, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के सचिव पर्यटन के सचिव श्री केषव चंर्द्रा, एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर षुक्ला, एमिटी सांइस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेषन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती एंव एमिटी इंस्टीट्यूट आॅफ टैज्वेल एंड टूरिज्म के निदेशक डा (प्रोफेसर) एम सजनानी ने किया। इस दौरान एमिटी इंस्टीट्यूट आॅफ टैज्वेल एंड टूरिज्म के छात्रों ने भारत की संस्कृति को दृशाते हुए नृत्य एंव फैशन शो भी प्रस्तुत किया।

3
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली के सचिव पर्यटन के सचिव केषव चंर्द्रा ने छात्रो को संबोधित करते हुए कहा कि पर्यटन क्षेत्र एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें सार्वजनिक एंव निजी सैक्टर की आवश्यकता होती है। दोनो ही विभाग का पर्यटन क्षेत्र में हिस्सा लेना आवश्यक है। पर्यटन विभाग की मांग एंव आपूर्ति दोनो ही जरूरी है। मांग के अनुसार पर्यटन विभाग का विकास होगा और आपूर्ति के अनुसार पर्यटन विभाग देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देगा और कर राजस्व में भी सुधार होगा। पर्यटन विभाग एक जिज्ञासु क्षेत्र है, जिससे देश के विकास मॉडल पर भी असर होगा। इस विभाग में जबरदस्त क्षमता वाले लोग देखने को मिलते है। खाली स्थान को कभी भी पर्यटन का हिस्सा नहीं बनाया जा सकता है, जो जिस जगह के लिए है वह अपने सही जगह पर है जैसे भारत में कुतुब मीनार का होना आदी। एक दिन में तिरूपति में लगभग 65.000 श्रद्धालु आते है पर उसके अनुसार सुविधाएं होनी बहुत आवष्यक होती है। उसी प्रकार भारत देष में सबसे अच्छे चिकित्सक डॉक्टर भी है पर चिकित्सा पर्यटन को सही प्रकार से बढ़ावा नहंी दिया जाता है।

4
ली ट्रैवल वर्ल्ड एंड यूनी ग्लोब (इंडिया) के प्रबंध निदेशक संजय डांग ने कहा कि पर्यटन विभाग हर किसी के लिए है। डब्लू टी ओ ने सही विषय का चुनाव किया है क्योकि इस विषय से पर्यटन विभाग की अधिकतम समस्या का हल किया जा सकता है। पर्यटन उन लोगो के लिए है जो पूरे विश्व को देखना एंव समझना चाहते है और यह चाह लगभग हर व्यक्ति के दिल में है। 15 प्रतिशत जनता किसी न किसी प्रकार की समस्या के कारण यात्रा नहीं कर पाती है और जब किसी व्यक्ति को उसकी चाह से दूर रखा जाए तो वह कभी खुश नहीं रह पाता है। आज भी कई दशो में विकलांग लोगो के लिए सुविधाएं नहीं होती है जिसके कारण वह सही से यात्रा का आनंद भी नहीं ले पाते है। उन्होने यह भी कहा कि एमिटी के भविष्य पेशवरों से वह यह उम्मीद करते है कि आने वाले समय में हर प्रकार की समस्या का समाध निकाल कर देश को समस्या मुक्त देश बनाऐगे।

 

 

5
एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर शुक्ला ने अतिथियो का स्वागत करते हुए कहा कि बूढ़ा, युवा, विकलांग कोई भी हो रह व्यक्ति को पर्यटन का पूरा आनंद लेना का हक है। यह पृथ्वी हर किसी के लिए सुगम है। पर्यटन को केवल अवकाष के तौर पर न देखे बलिक उसे शिक्षा, स्वास्थ्य, मनोरंजन के तरीके से भी देखे। भारत देश में ऐसे कई क्षेत्र है जो पर्यटकों के लिए खास आकर्षण का केंद्र है। इस अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय के षिक्षकगण एंव छात्रगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *