शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

एमिटी को विश्वस्तरीय बनाना ही लक्ष्य : लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा

एमिटी को विश्वस्तरीय बनाना ही लक्ष्य : लेफ्टिनेंट जनरल वीके शर्मा
सकारात्मकता से पाया जा सकता है हर लक्ष्य : डॉ सुनील सरन
-एमिटी विश्वविद्यालय ने मनाया सातवां स्थापना दिवस समारोह
– एमिटियन के वार्षिकांक का विमोचन
-विश्वविद्यालय के मेधावियों और शिक्षकों को किया गया सम्मानित
-प्रेस कांफ्रेंस में हुई भावी योजनाओं पर चर्चा

ग्वालियर (सुनील गोयल)। एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश ने मंगलवार को सातवें स्थापना दिवस समारोह आयोजित किया। इस दौरान एमिटी ग्रुप के चांसलर प्रोफेसर डॉ सुनील सरन विशिष्ट अतिथि के रूप में समारोह में उपस्थित रहे। उन्होंने ने कहा कि मैने जीवन में जो भी पाया है वह सकारात्मकता की बदौलत पाया है, जीवन का हर लक्ष्य सकारात्मक विचारधारा को अपनाकर हासिल किया जा सकता है। कार्यक्रम में उनके साथ एमिटी से जुड़े अन्य लोग भी शामिल हुए। इस दौरान विश्वविद्यालय के न्यूज लेटर एमिटियन के वार्षिकांक का विमोचन भी किया गया। इस दौरान संपन्न हुई प्रेस कांफ्रेंस में एमिटी ग्रुप की भावी योजनाओं पर चर्चा की गई। प्रेस कांफ्रेंस में एमिटी ग्रुप के चांसलर प्रोफेसर डॉ सुनील सरन, रितनंद बलवेद शिक्षा समिति के वाइस प्रेसिडेंट डॉ. जे.गिरीश, वाइस चांसलर लेफ्टिनेंट जनरल वीके. शर्मा, रजिस्ट्रार राजेश जैन ,रिलाइंस एडीए ग्रुप के जनरल मेनेजर मि. निशांत गुप्ता मुख्या रूप से उपस्थित रहे ।
इस अवसर पर कुलपति माननीय लेफ्टिनेंट जनरल वी.के. शर्मा, अति विशिष्ट सेवा मेडल (रिटायर्ड) ने सभी विभागाध्यक्षों की उपस्थित में एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के द्वारा विगत छह वर्षो में प्राप्त की गई सफलताओं को अतिथियों से साझा किया। विद्यार्थियों से खाचाखच भरे सभागार में कार्यक्रम शुभारंभ मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। इसके बाद माननीय कुलपति महोदय ने सभी अतिथियों का परिचय देते हुए उनका स्वागत किया। एमिटी विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ सुनील सरन ने एमिटी से जुड़े अपने अनुभवों को साझा करते हुए एमिटी और इससे जुड़े लोंगों की विशेषताओं से विद्यार्थियों को रूबरू करवाया। तत्पशचात् रितनंद बलवेद शिक्षा समिति द्वारा संचालित एमिटी विश्वविद्यालय के मिशन एवं विजऩ के बारे में उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए कहा कि एमिटी का उद्देश्य है देश के लिए जिम्मेदार नागरिक तैयार करना, उन्होंने बताया कि हमारे संस्थापक का मानना है कि शिक्षा से राष्ट्र निर्माण किया जा सकता है और राष्ट्र निर्माण का काम भगवान का काम है। हम सब एमिटियन्स भगवान का काम कर रहे हैं । उन्होंने विद्यार्थियों को खुश रहने और हमेशा सकारात्मक विचारधारा को अपनाने की सलाह दी उन्होंने बताया कि एमिटी की यह विशेषता है कि यहां काम करने वाला हर इंसान सकारात्मकता के साथ जीता है और उसके चेहरे पर मुस्कान होती है। इस व्याख्यान के बाद शैक्षणिक उत्कृष्टता और स्कॉलरशिप प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया।

स्थापना दिवस के अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय के कुलपति माननीय लेफ्टिनेंट जनरल वी.के. शर्मा, अति विशिष्ट सेवा मेडल (रिटायर्ड) ने उदाहरण देते हुए जीवन में सफलता के अनमोल सूत्र साझा करते हुए बताया कि इस भागदौड़ भरी जिंदगी में बिहेवियरल साइंस, ‘हार्ड वर्कÓ, ‘एटीट्यूड, ‘एम्बीशनÓ और भगवान को साथ लेकर अपने आचरण में सुधार कर, ऊंची महत्वाकांक्षा के लिए सकारात्मक एटीट्यूड और कड़ी मेहनत करने वाला ही व्यक्ति जीवन के हर समर में सफलता हासिल करता है। इस अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय के विभिन्न आयामों का प्रदर्शन करने हेतु सांस्कृतिक कार्यक्रम और एमिटी स्कूल ऑफ कम्यूनिकेशन द्वारा बनायी गई शार्ट फिल्म का प्रदर्शन किया गया। इसके बाद एमिटी विश्वविद्यालय के प्रो- वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉ एमपी कौशिक ने धन्यवाद ज्ञापन प्रेषित किया । उन्होंने एमिटी के सफलता के लिए एमिटी के संस्थापक डॉ असीम चौहान, एमिटी ग्रुप के चांसलर प्रोफेसर डॉ सुनील सरन, रितनंद बलवेद शिक्षा समिति के वाइस प्रेसिडेंट डॉ. जे.गिरीश, वाइस चांसलर लेफ्टिनेंट जनरल वीके. शर्मा, रजिस्ट्रार राजेश जैन ,रिलाइंस एडीए ग्रुप के जनरल मेनेजर मि. निशांत गुप्ता, संकायाध्यक्ष, शोध संकायाध्यक्ष, छात्र कल्याण अधिष्ठाता, डायरेक्टर एडमिनस्
ट्रेशन, एस्को और सभी गणमान्य अतिथियों और मीडिया का आभार एवं धन्यवाद व्यक्त किया। इस दौरान विश्?वविद्यालय के छात्र-छात्राएं सभागार में तथा अन्य विद्यार्थियों ने लाइव विडियो प्रसारण के माध्यम से विश्वविद्यालय के विभिन्न स्थानों सेमीनार हॉल, मूट कोर्ट इत्यादि में रहकर इस कार्यक्रम का लाभ उठाया।
द्वितीय चरण के कार्यक्रम में विश्वविद्यालय द्वारा बनाये गए इन्नोवेटिव उपकरणों का प्रदर्शन किया गया। तत्पश्चात् संपूर्ण विश्वविद्यालय के भ्रमण के पश्चात् प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया जिसके माध्यम से विशिष्ट अतिथि एमिटी ग्रुप के चांसलर प्रोफेसर डॉ सुनील सरन, वाइस चांसलर लेफ्टिनेंट जनरल वी.के. शर्मा, प्रो- वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉ एमपी कौशिक ने एमिटी ग्रुप की भावी योजनाओं से पर्दा उठाया। प्रेस कांफ्रेंस के पश्चात् संकायाध्यक्ष, शोध संकायाध्यक्ष, छात्र कल्याण अधिष्ठाता, डायरेक्टर एडमिनस्ट्रेशन, एडमिशन व प्लेसमेंट के डायरेक्टर प्रेजेंटेशन के माध्यम से विश्वविद्यालय की विभिन्न गतिविधियों के बारे में विशिष्ट अतिथि महोदय को अवगत कराया। विभिन्न विभागों के अध्यक्षों एवं शिक्षकों से रूबरू होने के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।
विदित हो कि सोसाइटी रजिस्ट्रेशन एक्ट के तहत रजिस्टर्ड रितनंद बलवेद शिक्षा समिति, नई दिल्ली द्वारा मध्यप्रदेश में प्रोफेशनल एवं इन्डस्ट्री-ओरिएंडेट शिक्षा के लिए 2010 में एमिटी विश्विद्यालय का निर्माण किया गया। 100 एकड़ के विशाल भू-भाग में फैला यह विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश सरकार एवं यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन से पूर्णतया संबंद्ध है। इस विश्वविद्यालय ने बीते सात वर्षों में प्रगति के कई आयामों को हासिल किया है। इस दौरान विश्वविद्यालय को सीएमएआई बेस्ट प्राइवेट यूनिवर्सिटी अवार्ड से सम्मानित किया गया। साथ फिल्म फेस्टिवल के साथ-साथ विश्वविद्यालय में विभिन्न विषयों पर कई राष्ट्रीय सेमिनार एवं कांफ्रेंसों का आयोजन भी किया गया। इस अवसर पर समस्त विभागों के प्राध्यापकगण एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *