व्यवसाय शिक्षा/टेक्नालाजी समाचार

एनडीडीबी फाउन्डेशन फॉर न्यूट्रीशियन उत्तर प्रदेश और दिल्ली के स्कूली बच्चों के लिए लेकर आएहैं ‘गिफ्ट मिल्क प्रोग्राम

एनडीडीबी फाउन्डेशन फॉर न्यूट्रीशियन उत्तर प्रदेश और दिल्ली के स्कूली बच्चों के लिए लेकर आएहैं ‘गिफ्ट मिल्क प्रोग्राम
नोएडा (वेब संवाददाता)। एनडीडीबी फाउन्डेशन फॉर न्यूट्रीशियन ने शुक्रवार को (11 अगस्त 2017) को नोएडा और दिल्ली के 6 सरकारी स्कूलों (3 स्कूल उत्तर प्रदेश के नोएडा में और 3 स्कूल दिल्ली में) में अपने अनूठे ‘गिफ्ट मिल्कÓप्रोग्राम का लॉन्च किया। मदर डेयरी फ्रूट एण्ड वैजीटेबल प्रा लिमिटेड इस पहल के लिए दानदाता एवं कार्यान्वयन एजेन्सी होगी। प्रोग्राम के तहत कवर किए गए स्कूल नोएडा के सेक्टर 44, सेक्टर 51 और सदरपुर क्षेत्रों में तथा दिल्ली केचितरंजन पार्क एवं मादीपुर क्षेत्रों में हैं। राष्ट्रीय डेरी विकास बोर्ड के चयेरमैन दिलिप रथ तथा मदर डेयरी के प्रबंधनिदेशक संजीव खन्ना ने शुक्रवार को नोएडा के सेक्टर 51 स्थित गवर्नमेन्ट बालिका इंटर कॉलेज की छात्राओं को दूध का पहला लॉट वितरित कर प्रोग्राम का उद्घाटन किया। इस मौके पर राष्ट्रीय डेरी विकास बोर्ड के चेयरमैन दिलिप रथ ने कहा कि बच्चे सशक्त, जीवंत और गतिशील भारत की नींव हैं। उचित पोषण की कमी बच्चोंके मनोविज्ञान पर दीर्घ कालिक, अक्सर स्थायी प्रभाव पैदा करती है। ऐसे में जीवनके शुरूआती वर्षों में उनकी पोषण सम्बन्धी ज़रूरतों को पूरा करनामहत्वपूर्ण है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सर्वेक्षण 2015-16 के अनुसार लगभग 36 फीसदीबच्चे कुपोषित हैं। कुपोषण की इस समस्या का समाधान दूध से सम्भव है क्योंकि दूध अपने आप में पोष्टिक आहार है। अपनी सहायक कम्पनियों केसाथ दूध उत्पादक संगठनों के नेटवर्क के माध्यम से सरकारी स्कूलों केबच्चों को दूध एवं दुग्ध उत्पाद उपलब्ध कराने का यह नेक काम शुरू कर रहीहै। श्री रथ ने कहा, ”वर्तमान में यह प्रोग्राम दिल्ली, तेलंगाना और गुजरात के 7 स्कूलों के माध्यम से 3500 बच्चों को लाभान्वित कर रहा है। अब तक एनडीडीबी सरकारी स्कूलों के बच्चों में तकरीबन 6 लाख युनिट दूध वितरित कर चुकी है। ‘गिफ्ट मिल्कÓ प्रोग्राम के तहत नोएडा और दिल्ली में करीब 6000 छात्राओं के साथ 6 सरकारी कन्या स्कूलों को जोड देगा। मदर डेयरी सभीकार्य दिवसों पर छात्रों को 200 एमएल फ्लेवर्ड दूध वितरित करेगी।ÓÓ ज़्यादा से ज़्यादा संख्या में बच्चों तक पहुंचने के लिए एनडीडीबी ने विभिन्न राज्योंमें इस पहल के विस्तार की योजना बनाई है। एनडीडीबी ने सीएसआर गतिविधियों के तहत प्रोग्राम के वित्तपोषण के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के साथ जुडऩाभी शुरू किया है। तत्परता से दूध यूनियनों और राज्य सरकारों के साथ साझेदारी के लिए भी प्रयासरत है।
एनडीडीबी को सोसाइटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के तहत सोसाइटी के रूप में तथा 9अक्टूबर 2015 को गुजरात राज्य में लागू बॉम्बे पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट केतहत एक ट्रस्ट के रूप में पंजीकृत किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *