मनोरंजन समाचार

इजरॉयली कलाकारों ने बांधा समां

इजरॉयली कलाकारों ने बांधा समां
नोएडा (अm1जमिल)। इजरॉयल एक ऐसा देश है जहां तीन धm5र्मों की संस्कृति जुड़ी है इसलिए वहां की संस्कृति और भारत की संस्कृति में कुछ मिलता जुलता है। वहां की संस्कृति को और बेहतर तरीके से जानने के लिए इंटरनेशल चैंबर आॅफ मीडिया एंड एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री व इंडो इजरॉयल सांस्कृतिक फोरम ने एक नृत्य प्रस्तुत किया, जिसमें वहां की कोरियोग्राफर जैसमीन मादी व ऐलेन की जूलिस डेबका डांस कंपनी द्वारा ग्रुप डांस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में कलाकारों ने वहां की पांरपरिक वेशभूषा पहन कर बहुत ही सुंदर नत्य पेश किया। कोरियाग्राफर जैसमीन मादी ने कहा जैसे इजरॉयल के लोग खूबसूरत होते हैं वैसे ही वहां की संस्कृति व संगीत m3बहुत    ही मध्ुर है जिसे सुन कर आप खुद को रोक नहीं सकते औm2र यही बात भारत की संस्कृति में देखने को मिलती है यहां का संगीत अलग अलग वेशभूषा व भाषा यहां की संस्कृति को बहुत ही विशाल बनाती है। हमें यहां आकर बहुत खुशी मिली और लगा ही नहीं कि हम अपने देश में नही है। इस अवसर पर ऐलेन ने कहा लोकनृत्य किसी भी देश की संस्कृति को दशार्ता है और यहां के छात्रों के सामने नृत्य कर उनका उत्साह देखकर हमें बहुत अच्छा लगा। कलाकार की मेहनत तभी सफल होती है जब दर्शक उसमें पूरी तरह डूब जाते हैं।
संदीप मारवाह ने कहा इजरॉयल और भारत का बहुत पुराना रिश्ता रहा है वहां से कई कलाकार हमारे मारवाह स्टूडियो आ चुके हैं और जब हमारे यहां से कोई कलाकार जाता है तो उसे लगता ही नहीं कि वह किसी और देश में आया है। वहां की संस्कृति व कला भारत के कलाकारों को हमेशा से ही आकर्षित करती रही है। उन्होंने कहा कि संगीत की कोई भाषा नहीं होती वह बस दिल से महसूस किया जाता है।
इस अवसर पर संदीप मारवाह ने आए हुए सभी कलाकारों को प्रमाणपत्र देकर सम्मानित करते हुए कहा कि इस तरह के कार्यक्रम हमारे छात्रों को दूसरे देशों की संस्कृति जानने में मदद करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *